पटना: बिहार विधानसभा के बजट सत्र का आज से प्रारंभ हो गया. पहले दिन विधानसभा परिसर में विपक्ष के विधायक महंगाई, डीजल-पेट्रोल की कीमतों में भारी बढ़ोतरी के खिलाफ विरोध करने का अपना-अपना तरीका अपनाया.

पेट्रोल-डीजल के बढ़ते दामों का विरोध जताने के लिए आरजेडी के महुआ से नये-नवेले विधायक मुकेश रौशन साइकिल की सवारी करते हुए सदन पहुंचे. उन्होंने दावा किया कि वो साईकल से ही महुआ, हाजीपुर से बिहार विधानसभा पहुंचे हैं.

लकड़ी लेकर विधानसभा पहुंचे कांग्रेस विधायक

वहीं, कांग्रेस के विधायक शकील अहमद खान गैस सिलेंडर के दाम में वृद्धि का विरोध अनोखे तरीके से किया. एक हाथ में चूल्हा और एक हाथ में लकड़ी लेकर बिहार विधानसभा पहुंचे. उनका कहना था कि अब पुराने जमाने में लौटने के अलावा कोई चारा नहीं है क्योंकि बीजेपी ने लोगों का जीना हराम कर दिया है. अब लोग लकड़ी पर ही खाना बनाएंगे. उनके साथ राजापाकर से कांग्रेस प्रतिमा कुमारी लकड़ी लेकर पहुंची.

वाम दलों के विधायकों ने जताया विरोध

दूसरी तरफ सीपीआई-एमएल, सीपीएम और वाम दलों के विधायकों ने कृषि कानून को लेकर विधानसभा के बाहर प्रदर्शन किया. वाम दलों के विधायकों ने विधानसभा के सत्र में कृषि कानून के खिलाफ प्रस्ताव लाने और प्रस्ताव को पास कर केंद्र सरकार को भेजने की मांग की. अगर ऐसा नहीं हुआ तो विधानसभा के अंदर-बाहर का प्रदर्शन करेंगे.

एआईएमआईएम विधायकों का हंगामा

वहीं, सीमांचल के बाढ़ पीड़ितों को मुआवजा देने की मांग को लेकर एआईएमआईएम के विधायकों ने विधानसभा के बाहर जमकर हंगामा किया. प्रदर्शन करते हुए ओवैसी के विधायकों ने कहा कि बाढ़ आए हुए कई महीने बीत गए लेकिन आज तक सीमांचल के बाढ़ पीड़ितों को मुआवजा सरकार नहीं दे रही है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here