कोरोना से बिगड़े हालात को देख भावुक हुए लालू यादव, पीएम नरेंद्र मोदी से लगाई गुहार, कहा- बहुत दुख होता है, हमने…

0
10

पटना: आरजेडी सुप्रीमो लालू प्रसाद यादव जमानत पर जेल से रिहा हो चुके हैं. फिलहाल लालू नई दिल्ली स्थित बड़ी बेटी व राज्यसभा सदस्य मीसा भारतीय के आवास पर रह रहे हैं. रविवार को करीब साढ़े तीन साल बाद लालू पार्टी के नेताओं से वर्चअल संवाद किया. हालांकि, स्वास्थ्य कारणों से करीब तीन मिनट ही बोल पाए.

इसी बीच लालू यादव ने कोरोना काल को ध्यान में रखते हुए सोमवार को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से देश की बेहतरी के लिए एक अपील की है. लालू यादव ने प्रेस रीलिज जारी कर कहा कि 1996-97 में जब हम समाजवादियों की देश में जनता दल की सरकार थी जिसका मैं राष्ट्रीय अध्यक्ष था तब हमने पोलियो टीकाकरण का विश्व रिकॉर्ड बनाया था.

1996 में पोलियो का लगा था टीका

लालू यादव ने बताया कि उस वक्त आज जैसी सुविधा और जागरुकता भी नहीं थी फिर भी 7 दिसंबर 1996 को 11.74 करोड़ शिशुओं और 18 जनवरी 1997 को 12.73 करोड़ शिशुओं को पोलियो का टीका दिया गया था।  वह भारत का विश्व रिकॉर्ड था.

तथाकथित विश्वगुरू सरकार टीका उपलब्ध कराना में विफल

उस दौर में वैक्सीन के प्रति लोगों मे हिचकिचाहट व भ्रांतियाँ थी लेकिन जनता दल नीत संयुक्त मोर्चा की समाजवादी सरकार ने दृढ़ निश्चय किया था कि पोलियो को जड़ से ख़त्म कर आने वाली नस्लों को इससे मुक्ति दिलायेंगे. आज दुःख होता है कि तथाकथित विश्वगुरु सरकार अपने नागरिकों को पैसे लेकर भी टीका उपलब्ध नहीं करा पा रही है.

ये भी पढ़ेः वर्चुअल मीटिंग के दौरान बिगड़ी आरजेडी चीफ लालू प्रसाद यादव की तबीयत

आखिरी में लालू यादव ने कहा, मैं प्रधानमंत्री जी से आग्रह करता हूँ कि इस जानलेवा महामारी में सार्वभौमिक टीकाकरण कार्यक्रम के तहत पूरे देशवासियों को निःशुल्क टीका देने का ऐलान करें. राज्य और केंद्र के टीके की क़ीमत अलग-अलग नहीं होना चाहिए. राज्यों से ही देश बनता है. ये केंद्र की ज़िम्मेदारी है कि देश के प्रत्येक नागरिक का चरणबद्ध समुचित टीकाकरण मुफ़्त में हो.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here