Tuesday, May 24

Love Story : दरोगा के खिलाफ लेडी कॉन्स्टेबल से प्यार का झांसा देकर शादी करने का आरोप, समाज के सामने स्वीकारने से किया इंकार, अदालत पहुंचा मामला

Love Story : बिहार के अरवल जिले में प्यार का एक मामला सामने आया है, जिसे सुन कर कोई भी कहेगा की प्यार तो अंधा होता है। ये मामला किसी आम युवक युवती का नहीं बल्कि पुलिस महकमे से जुड़े अधिकारी का है। यहां एक दारोगा को थाना मैनेजर से प्यार हो गया, लेकिन वो कहते हैं ना हर लव स्टोरी में ट्विस्ट तो होता ही है। यहां भी कुछ ऐसा ही हुआ,जब दरोगा जी समाज के सामने इस रिश्ते को स्वीकारने से हिचकिचाने लगे। आरोप है कि प्यार का झांसा देकर दरोगा ने उक्त थाना मैनेजर से शारीरिक संबंध बनाए और फिर धोखा दे दिया। ये मामला अब थाने तक जा पहुंचा है।

Love Story

Love Story : प्रेमिका का भरोसा जीतने के लिए मंदिर में शादी भी कर ली

रोहतास जिले में तैनात दरोगा अमरनाथ को कोरोना में लगी ड्यूटी के दौरान एक थाना मैनेजर से प्यार हो गया। आरोप है कि महिला पुलिसकर्मी भी उनको दिल बैठी। प्रेमिका का भरोसा जीतने के लिए उन्होंने मंदिर में शादी भी कर ली।

उधर,दारोगा के घरवालों को इसकी भनक भी नहीं थी और उन्होंने उनकी शादी कहीं और भी तय कर दी। इस बारे में जब महिला पुलिसकर्मी को पता चला तो उसने दरोगा के खिलाफ थाने में शिकायत दर्ज करा दी। महिला पुलिसकर्मी ने एसपी आशीष भारती को पूरे मामले की जानकारी देते हुए बताया कि दरोगा अमरनाथ ने उनसे जहानाबाद के एक मंदिर में शादी की है उनके खिलाफ कार्रवाई की जाए।

फिलहाल महिला थाना पुलिस ने सदर अस्पताल में पीड़िता की मेडिकल जांच के बाद कोर्ट में धारा 164 के तहत मामला दर्ज करवाया है। अरवल के एसपी ने भी जांच का आदेश दे दिया है।

मिली जानकारी के अनुसार रोहतास जिले में कार्यरत दरोगा अमरनाथ की कोविड-19 के दौरान अरवल के स्थानीय बंसी थाने में ड्यूटी लगी थी। ड्यूटी के दौरान कुर्था में पदस्थापित तत्कालीन थाना मैनेजर (लेडी कांस्टेबल) के साथ उसे प्यार हो गया। दारोगा ने 2 साल तक प्यार को छिपाने की कोशिश की।

महिला थाने में दर्ज प्राथमिकी के अनुसार दरोगा ने जहानाबाद के मंदिर में शादी रचाई है। आरोपी दारोगा बंसी थाना क्षेत्र के अनुआ गांव के निवासी हैं। अरवल महिला थाने में दरोगा अमरनाथ उर्फ राकेश कुमार समेत कुल 7 लोगों पर नामजद प्राथमिकी दर्ज कराई गई है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.