पटनाः बिहार विधानसभा चुनाव के बाद महागठबंधन अब किसानों के मुद्दे पर एनडीए सरकार के खिलाफ मोर्चा खोलने जा रही है. नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी यादव ने राजधानी पटना में प्रेस कॉन्फ्रेंस कर केंद्र की नरेंद्र मोदी सरकार पर जमकर हमला किया.

Immediately Receive Kuwait Hindi News Updates

तेजस्वी यादव ने कहा कि मोदी सरकार किसानों का एमएसपी समाप्त करना चाहती है क्योंकि उनकी मंशा कॉरपोरेट के हाथों किसानों को बंधक बनाने की है. तेजस्वी का कहना है कि नोटबंदी या फिर जीएसटी जैसे किसी भी बड़े बदलाव को लेकर फायदे गिनाती है, लेकिन हकीकत में यह एक डिजास्टर साबित होता है. कुछ समय बाद जब इसके फायदे पूछे जाते हैं तो सरकार कुछ बताने की स्थिति में नहीं होती है बल्कि वह जवाब भी नहीं देना चाहती है.

गांधी मैदान में होगा धरना-प्रदर्शन

तेजस्वी ने मीडिया को संबोधित करते हुए ऐलान किया कि शनिवार को पटना के गांधी मैदान में महागठबंधन के सभी पार्टियों के नेता किसान आंदोलन के सपोर्ट में धरने पर बैठेंगे. तेजस्वी यादव ने निशाना साधते हुए कहा कि केंद्र सरकार हर वो कोशिश करती है जिससे मुद्दे को भटकाया जा सके, लेकिन सवाल यह है कि एमएसपी को ही जब समाप्त कर दिया गया तो किसानों की आय दोगुनी कैसे होगी.

‘बिहार के किसान बन गए मजदूर’

वहीं, तेजस्वी यादव ने किसानों और संगठनों से काले कानून के खिलाफ सड़कों पर उतरने की मांग की. नेता प्रतिपक्ष ने आरोप लगाया कि बिहार सरकार 2006 में ही मंडी खत्म कर दी. हालात ऐसे हैं कि बिहार के किसान मजदूर बन गए हैं. मजबूरन बिहार से किसान दूसरे राज्यों में पलायन कर रहे हैं. धान को लेकर हमने विधानसभा में भी उठाया था. कहीं भी बिहार में धान की खरीद नहीं हो रही है. मुख्यमंत्री साफतौर पर झूठ बोल रहे हैं.

ये भी पढ़ेंः बिहार में कहर बरपा रहा कोरोना, गुरुवार को इतने मरीजों की हुई मौत

सीएम पर लगाया झूठ बोलने का आरोप

तेजस्वी ने आरोप लगाया कि मुख्यमंत्री साफतौर पर झूठ बोल रहे हैं. जहां, किसान इसके खिलाफ में सड़क पर है लेकिन  सीएम सीना चौड़ा कर इस बिल का संसद में समर्थन किया था. तब मैंने कहा था कि बिहार पहला राज्य है जहां सरकार ने मंडी खत्म की है. बात अगर फंसेगी तो कितने स्तर पर उन्हें जाना पड़ेगा. वकील भी रखना पड़ेगा, कोर्ट भी जाना पड़ेगा, लेकिन कम्पनी वालों को कोई फर्क नहीं पड़ेगा.

Get Daily City News Updates

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here