दिल्ली में बच्चे की चाह में एक महिला ने अंधविश्वास और तांत्रिक के चक्कर में पड़कर पड़ोसी के तीन साल के बेटे की हत्या कर दी. शव को बोरे में बंद कर उसे पड़ोसी की छत पर फेंक दिया. बच्चे के नहीं मिलने पर परिजनों ने पुलिस को जानकारी दी. पुलिस की छानबीन के दौरान बच्चे के शव को बरामद कर लिया और छानबीन कर महिला को गिरफ्तार कर लिया.

पुलिस के जांच में इस बात का खुलासा हुआ कि शादी के आठ साल होने के बाद भी महिला को कोई बच्चा नहीं हुआ. हरदोई में एक तांत्रिक ने बच्चा प्राप्त करने के लिए एक बच्चे की बलि देने के लिए कहा था. जिला पुलिस उपायुक्त प्रणव तायल ने बताया कि गिरफ्तार महिला की पहचान मूलत: गांव सुंदाबल, हरदोई, यूपी निवासी नीलम गुप्ता(25) के रूप में हुई है.

बोरे में मिला बच्चे का शव

आरोपी महिला अपने पति पंकज गुप्ता के साथ रिठाला गांव में रहती थी. बच्चे के गुमशुदगी के रिपोर्ट पर पुलिस छानबीन करने में जुट गई. उसके पिता दयाराम गुप्ता ने बताया कि पीयूष छत पर मौजूद था. वह नीचे भी नहीं आया था. पुलिस ने तुरंत मामले की जांच शुरू की और छत पर छानबीन की. पुलिस को पड़ोस की छत पर एक बोरा मिला, जो दीवार से सटाकर रखा गया था. बोरा खोलते ही बच्चे का शव बरामद हुआ.गर्दन पर निशान थे और होंट काले पड़ गए थे.

परिवार में मचा कोहराम

आरोपी महिला ने बताया कि बच्चा उसके पास आया करते था. जब शनिवार को पीयूष को छत पर अकेला देखा, तभी वह उसे अपने साथ कमरे में ले गई और पूजा करने के बाद उसका गला घोंट दिया. इस घटना के बाद से बच्चे के परिवार में कोहराम मचा हुआ है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here