पटना: बिहार की मुख्य विपक्षी पार्टी राजद ने रविवार को दावा किया कि वह पश्चिम बंगाल में आगामी विधानसभा चुनाव लड़ने के लिए सत्तारूढ़ तृणमूल कांग्रेस के साथ बातचीत कर रही है. हालांकि टीएमसी के नेताओं ने इस तरह की किसी वार्ता से इनकार किया है.

राजद नेताओं ने दावा किया कि राजद के प्रधान महासचिव अब्दुल बारी सिद्दीकी और राष्ट्रीय महासचिव श्याम रजक मुख्यमंत्री ममता बनर्जी की पार्टी के साथ विधानसभा चुनाव के लिए गठबंधन पर बातचीत के लिए कोलकाता गए हैं. रजक ने पीटीआई-भाषा से कहा, “हम साथ मिलकर बंगाल चुनाव लड़ने के लिए सोमवार को मुख्यमंत्री ममता बनर्जी से मुलाकात करेंगे. ” सिद्दीकी और रजक ने कोलकाता में बनर्जी से चर्चा करने से पहले अपनी पार्टी के नेताओं के साथ बैठक की.

गठबंधन पर बातचीत नहीं चल रही:टीएमसी

बहरहाल, टीएमसी नेताओं ने कहा कि पश्चिम बंगाल में राजद के साथ किसी भी गठबंधन पर बातचीत नहीं चल रही है. राजद के प्रवक्ता मृत्युंजय तिवारी ने बताया कि पार्टी बंगाल-बिहार सीमा पर स्थित कुछ सीटों पर चुनाव लड़ने की संभावना तलाश रही है. हालांकि उन्होंने उन सीटों की संख्या नहीं बताई जिन पर राजद चुनाव लड़ने की योजना बना रही है.

ममता-लालू में है मैत्रीपूर्ण संबंध

पश्चिम बंगाल में अप्रैल-मई में विधानसभा चुनाव हो सकते हैं. तिवारी ने कहा कि ममता बनर्जी के राजद सुप्रीमो लालू प्रसाद के साथ मैत्रीपूर्ण संबंध हैं और पार्टी बंगाल चुनाव में तृणमूल कांग्रेस अध्यक्ष के हाथों को मजबूत करना चाहती है. प्रवक्ता ने कहा कि राजद का प्राथमिक लक्ष्य पश्चिम बंगाल में “सांप्रदायिक” भाजपा के प्रभाव को रोकना और ममता बनर्जी के नेतृत्व में ”धर्मनिरपेक्ष” ताकतों को मजबूत करना है.

राजद की नजर बिहार-पश्चिम बंगाल सीमा पर कुछ सीटों पर है जहां हिंदी भाषी मतदाताओं की अच्छी खासी आबादी रहती है. पश्चिम बंगाल में वाम मोर्चा के शासन काल में 2006 से 2011 के बीच राजद का एक विधायक था.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here