पटनाः बिहार में कोरोना संक्रमण के मामले कम होने का नाम नहीं ले रहा है. हालांकि इस पर काबू पाने के लिए कोरोना टेस्ट की संख्या बढ़ा दी गई है. शुरूआती दौर के मुकाबले रोजाना लाखों की संख्या में टेस्टिंग की जा रही है. राज्य में एक दिन में रिकॉर्ड 1.76 लाख नमूनों की जांच हुई. स्वास्थ्य विभाग ने रविवार को बुलेटिन में यह जानकारी दी. जबकि बिहार में कोरोना वायरस के 1,555 नए मामलों सामने आए हैं वहीं, संक्रमण के कुल मामले 1,68,541 हो गए हैं.

स्वास्थ्य विभाग ने रविवार को बुलेटिन में जानकारी देते हुए कहा है कि पिछले 24 घंटों में संक्रमण के कारण तीन मौतें हुईं है जिसमें पटना, बेगूसराय और समस्तीपुर जिलों में एक-एक मौत हुई है. वहीं, राज्य में अब तक कोरोना संक्रमण से 864 लोगों की जान गई है.

रिकवरी रेट पहुंचा 91.63 प्रतिशत

बिहार में कोविड-19 से अब तक 1,54,443 लोग रिकवर कर चुके हैं. मरीजों के ठीक होने की दर फिलहाल 91.63 प्रतिशत पहुंच चुका है. वर्तमान में 13,234 मरीजों का इलाज चल रहा है. बता दें कि पिछले 24 घंटों में कोविड-19 के लिए 1,76,511 नमूनों की जांच की गई, जिससे राज्य में अब तक हुई जांचों की संख्या 57 लाख से अधिक हो गई है.

कोरोना टेस्ट करते स्वास्थ्यकर्मी(फाइल फोटो)
          कोरोना टेस्ट करते स्वास्थ्यकर्मी (फाइल फोटो)

पटना में 209 नए कोरोना केस 

स्वास्थ्य विभाग की तरफ से दी जानकारी के मुताबिक 1,555 नए मामलों में पटना जिले से 209, मुजफ्फरपुर से 101, सुपौल से 93 और पूर्वी चंपारण और पूर्णिया से 73-73 मामले सामने आए हैं. वहीं, मुजफ्फरपुर जिला प्रशासन और रक्षा अनुसंधान विकास संगठन (डीआरडीओ) ने लोगों से रक्षा एजेंसी द्वारा स्थापित कोविड-19 अस्पताल में इलाज कराने के लिए आग्रह किया है. मुजफ्फरपुर शहर में डीआरडीओ द्वारा निर्मित 500 बिस्तरों वाला अस्पताल  7 सितंबर से काम करना शुरू कर दिया है जिसमें फिलहाल मात्र 70 मरीजों को ही भर्ती कराया गया है.

Get Daily City News Updates

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *