Mid Day Meal : बिहार में अक्सर मिड दे मिल को लेकर के लोगो की शिकायते आती रहती है कभी गुणवत्ता को लेकर तो कभी अन्य किसी चीज को लेकर लोगो की शिकायते आती रहती है इन तमाम शिकायतों को दूर करने के लिए अब शिक्षा विभाग की तरफ से एक नया फार्मूला चलाया गया है विभाग ने फैसला लिया है की बच्चो को भोजन देने से आधा घंटे पहले इस भोजन को स्कूल के हेड मास्टर द्वारा चखा जाएगा इसके बाद में बच्चो को खाना परोसा जाएगा

Mid Day Meal

Mid Day Meal : हेडमास्टर देंगे हरी झंडी

यानि की हेड मास्टर की तरफ से हरी झंडी मिलने के बाद में इस भोजन को बच्चो को परोसा जाएगा वहीं दूसरी तरफ बिहार के शिक्षा विभाग के पदाधिकारियो और कर्मियों को भी यह जिम्मेदारी सौंपी गयी है वे जब भी स्कूल के निरीक्षण के लिए जाए तो स्कूल में मिलने वाले दोपहर को भोजन को बैठकर टेस्ट करे भोजन चखने के बाद बच्चो को थाली में भोजन परोसे

पिछले महीने 28 मार्च को मुख्य सचिव की अध्यक्षता में वीडियो कॉन्फ्रेसिंग के जरिए एक बैठक हुई थी इसमें मिड दे मिल को लेकर के बातचीत हुई और निर्देश दिए गए है स्कूलों में मिलने वाले दोपहर के भोजनकी गुणवत्ता और मात्रा की जाँच को सुनश्चित किया जाए इसके लिए निरीक्षण करे इसके साथ ही शिक्षा विभाग के द्वारा कर्मियों और विधालय के शिक्षकों को इस भोजन को बच्चो के साथ में बैठकर करने के भी निर्देश दिए है

Leave a comment

Your email address will not be published.