पटनाः लगभग तीन महीने के अंतराल पर नीतीश कैबिनेट का विस्तार हो गया है. लेकिन विस्तार के साथ ही सियासी गलियारे में बवाल मच गया है. नीतीश के साथ मंत्री पद की शपथ लेने वाले मेवालाल चौधरी को विवाद होने पर रिजाइन देना पड़ा था. वहीं, अब फिर से नीतीश के नये मंत्री को लेकर पूर्व आईपीएस ने चिट्ठी लिखी है.

मंत्री पद की शपथ लेते ही धमदाहा से विधायक लेसी सिंह विवादों में घिर गई हैं. मंत्री के ऊपर गंभीर आरोप लगाए गए हैं. पूर्व IPS अधिकारी अमिताभ दास की एक चिट्ठी ने बवाल खड़ा कर दिया है. चिट्ठी में दावा किया गया है कि नीतीश सरकार में मंत्री बनी लेसी सिंह के ठिकानों पर AK-47, AK-56 और SLR जैसे अत्याधुनिक छिपाकर रखे गए हैं.

डीजीपी से छापेमारी करने की मांग

अमिताभ दास कहते हैं कि इसके बारे में उनके पास पक्की सूचना है. पुलिस को जल्द से जल्द मंत्री लेसी सिंह के ठिकानों पर छापेमारी करनी चाहिए, उन ठिकानों पुरी तरह से खंगाला जाना चाहिए. अमिताभ दास ने लेसी सिंह के संदर्भ में  एक लेटर बिहार के DGP एसके सिंघल को लिखा है.

कुख्यात अपराधी था बूटन सिंह

अमिताभ दास के मुताबिक लेसी सिंह का पति बूटन सिंह, पूर्णिया का कुख्यात अपराधी था. इसका सीमांचल इलाके का आतंक था. बूटन सिंह के ऊपर हत्या, अपहरण और रंगदारी जैसे गंभीर अपराध के करीब एक दर्जन से अधिक मामले दर्ज थे. अप्रैल 2000 में अपराधियों ने ही बूटन सिंह की गोली मारकर हत्या कर दी थी.

ये भी पढ़ेंः नीतीश कुमार ने कर दिया मंत्रालय का बंटवारा, जानिए किसे कौन सा विभाग मिला

पूर्व आईजी ने दावा किया है कि बूटन सिंह नीतीश कुमार का लंगोटिया यार था. मौत के समय बूटन सिंह समता पार्टी का पूर्णिया जिलाध्यक्ष था. बूटन सिंह की हत्या के बाद उसके गिरोह की कमान को लेसी सिंह के हाथों में आ गई. गिरोह के सारे हथियार लेसी सिंह के पास है. जिसे ठिकानों पर ही छिपाकर रखे गए हैं. इस इनपुट पर DGP को संज्ञान लेना चाहिए और तेजी से कार्रवाई करवानी चाहिए. गौरतलब है कि साल 2000 में अमिताभ दास पूर्णिया के पड़ोसी जिले किशनगंज में SP थे.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here