आखिरकार दिख गया विपक्ष का मेहनत, कभी भी अरेस्ट हो सकते हैं मंत्री रामसूरत राय का अभियुक्त भाई

0
6

मुुुजफ्फरपुरः बिहार विधानसभा का बजट सत्र बिहार के भूमि सुधार, राजस्व एवं कानून मंत्री रामसूरत राय को लेकर काफी हंगामेदार रहा है. मंत्री के भाई की गिरफ्तारी और मंत्री के इस्तीफे को लेकर विपक्ष ने पूरे सत्र में जमकर हंगामा किया है. मंत्री रामसूरत राय के भाई हंसलाल राय कभी भी सलाखों के पीछे भेजे जा सकते हैं. मुजफ्फरपुर पुलिस ने हंसलाल राय की गिरफ्तारी की प्रक्रिया शुरू कर दी है.

मंत्री के भाई पर शराब के कारोबार में संलिप्त होने का आरोप है. इसको लेकर मुजफ्फरपुर पुलिस ने मंत्री के भाई हंसलाल राय की गिरफ्तारी के लिए कोर्ट से वारंट के लिए अर्जी दाखिल की है, वारंट हासिल होते ही हंसलाल राय को गिरफ्तार कर लिया जाएगा. वहीं, खबर यह भी मिल रही है कि मंत्री के भाई सरेंडर भी कर सकते हैं.

स्कूल से बरामद हुआ था शराब

दरअसल, मामला नवंबर 2020 का है जब हंसलाल राय द्वारा संचालित एक स्कूल से ट्रक और दो अन्य गाड़ियों के साथ भारी मात्रा में विदेशी शराब पुलिस ने जब्त किया था. इस केस में मंत्री के भाई समेत 15 लोग अभियुक्त बने हैं जबकि 5 को पुलिस पकड़ कर जेल भेज चुकी है.

राजनीतिक रसूख का मिल रहा था फायदा

हालांकि, अब तक मंत्री रामसूरत राय के भाई हंसलाल राय राजनीतिक रसूख की वजह से बचते आए हैं लेकिन अब विपक्ष के जोरदार विरोध की वजह से बचने की उम्मीद लगभग समाप्त हो गई है. लगातार विपक्ष रामसूरत राय पर आरोपी भाई को संरक्षण देने का आरोप लगा रहा है. रामसूरत राय ने मीडिया से लेकर विधानसभा में भी अपनी सफाई दी थी.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here