पटनाः महागठबंधन पूर्व सीएम जीतन राम मांझी, आरएलएसपी सुप्रीमो उपेंद्र कुशवाहा के बाद अब वीआईपी सुप्रीमो मुकेश सहनी ने भी नाता तोड़ लिया. पटना में प्रेस कॉन्फ्रेंस कर नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी यादव को लेकर कई खुलासे किए. उन्होंने कहा कि आरजेडी दूसरे पार्टियों को खत्म करने की राजनीति कर रही है.

मीडिया को संबोधित करते हुए मुकेश सहनी ने तेजस्वी यादव पर गंभीर आरोप लगाया. उन्होंने कहा कि आरजेडी ने आखिरी समय तक उन्हें धोखे में रखा, ताकि अंतिम समय में बीच मझधार में छोड़ दिया जाए. अकेले लड़ने की स्थिति में अतिपिछड़ा वोटों को काट सकूं, जिससे एनडीए कैंडिडेट की हार और उनके उम्मीदवार की जीत सुनिश्चित हो सके. उन्होंने कहा कि उपेंद्र कुशवाहा के साथ गठबंधन को लेकर सकारात्मक बातचीत जारी है. पप्पू यादव भी ने भी साथ आने का ऑफर दिया है.

Immediately Receive Daily CG Newspaper Updates

सभी सीटों पर लड़ सकते हें चुनाव

मुकेश सहनी ने स्पष्ट किया है कि लालू परिवार को इस चुनाव में मुंह की खानी पड़ेगी. मुकेश सहनी ने बड़ा बयान देते हुए कहा कि अगर किसी भी पार्टी के साथ गठबंधन नहीं हो पाता है तो इस स्थिति में बिहार के सभी 243 सीट पर उनके उम्मीदवार मैदान में उतरेंगे. अगले दिन 71 सीटों पर चुनाव को लेकर ऐलान कर दिया जाएगा.  भविष्य में आरजेडी के साथ गठबंधन करने के सवाल पर उन्होंने कहा कि जब तेज प्रताप पार्टी का नेतृत्व करेंगे तब वो इस बारे में सोच सकते हैं. लेकिन पार्टी में उनकी कोई वैल्यू नहीं है. उन्हें एक-दो टिकट के लिए तरसाया जा रहा है.

निषाद समाज के साथ हुआ धोखा

सहनी ने दावा करते हुए कहा कि तेजस्वी ने बिहार में निषाद समाज के साथ धोखा किया है. उन्होंने कहा कि बिहार में अब विरासत वाली राजनीति नहीं चलेगी. बता दें कि मुकेश सहनी ने शनिवार को आरोप लगाया था कि 11 बजे से 6 बजे प्रेस कॉन्फ्रेंस शुरू होने तक तेजस्वी के साथ था. 25 सीट और उपमुख्यमंत्री बनाने की बात थी, लेकिन अंतिम समय वो पलट गए. दरअसल, उनके डीएनए में ही गड़बड़ी है. उनकी नहीं पूरे महागठबंधन के डीएनए में गड़बड़ी है. दरअसल, पटना के मौर्या होटल में नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी यादव ने सीट शेयरिंग की घोषणा की. इस दौरान नेता प्रतिपक्ष के अलावा आरजेडी, कांग्रेस, वाम दल के शीर्ष नेता मौजूद रहे.

ये भी पढ़ेंः लालू परिवार पर जमकर बरसे मुकेश सहनी, गठबंधन को लेकर किया बड़ा ऐलान

Get Daily City News Updates

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *