गया: बिहार में पूर्ण शराबबंदी कानून लागू है. लेकिन यह कानून अक्सर विवादों में रहता है. शराबबंदी में कड़े प्रावधान होने के बावजूद रोजाना अलग-अलग जिलों से भारी मात्रा में शराब की बरामदगी होती है. इसके लिए विपक्ष सीएम नीतीश को सवालों के कठघरे में खड़ा करता रहा है. लेकिन अब नीतीश के मंत्री ही इस पर सवाल खड़े करने लेगे हैं.

नीतीश कैबिनेट के मंत्री का मानना है कि शराबबंदी कानून को राज्य में जिस तरह से लागू होना चाहिए था, उस तरह से नहीं हुआ है. गया में एक कार्यक्रम में पशु एवं मत्स्य पालन मंत्री मुकेश साहनी ने कहा कि बिहार में शराबबंदी कानून को जितना सफल होना चाहिए था, उतना नहीं हो पाया है. यह कानून सीएम नीतीश का ड्रीम प्रोजेक्ट है.

वीडियो बनाकर सोशल मीडिया में करें अपलोड

मुकेश सहनी ने कहा कि 7 हजार करोड़ रुपये के सालाना नुकसान के बाबजूद कानून लागू है. ऐसे में आम जनता को भी जागरूक होने की जरूरत है. लोग इसकी जानकारी पुलिस को दें या फिर उसका वीडियो बनाकर सोशल मीडिया पर अपलोड कर दें. देखते ही पुलिस दोषियों पर कार्रवाई करेगी. वहीं, लालू योदव को लेकर सहनी ने कहा कि उनके विभाग के कारण ही आरजेडी सुप्रीमो आज जेल के अंदर है. गलती करेंगे तो सजा तो होगी ही. लेकिन मुझे लगता है कि उनकी सजा खत्म हो जाएगी और वो जल्द बाहर आएंगे. मैं उनकी बेहतर स्वास्थ्य की कामना करता हूँ.

Leave a comment

Your email address will not be published.