बिहार के बेटे ने किया कमाल, बनाई तनाव दूर करने की मशीन, जानिए कैसे करता है काम

0
7

मुजफ्फरपुर: बिहार में प्रतिभाओं की कोई कमी नहीं है. मुजफ्फरपुर के जीरोमाइल में रहने वाले ऋषभ राज के तनाव दूर करने की मशीन ने उन्हें राष्ट्रीय पुरस्कार दिलाया है. ऋषभ फिलहाल डीएवी बखरी में दसवीं के छात्र हैं. दरअसल, 24 जनवरी को गुजरात विवि और यूनेस्को ने मिलकर चिल्ड्रेन इनोवेशन फेस्टिवल करायी जिसमें ऋषभ ने हिस्सा लिया था. वहीं, प्रतियोगिता का रिजल्ट नौ अप्रैल को आया था.

ऋषभ ने बताया कि दिसंबर में प्रतियोगिता में शामिल होने वाले छात्रों की सूची जारी की गयी थी. इसमें पूरे देश से 200 छात्रों के नाम थे. अप्रैल में जारी रिजल्ट में पूरे देश से 50 छात्रों के नाम दर्ज हैं. ऋषभ इससे पहले भी अपनमा डंका बजा चुका है. इससे पहले बाल विज्ञान कांग्रेस में भी इस मशीन का प्रदर्शन कर राज्यस्तरीय पुरस्कार जीत चुके हैं.

अल्फा वेब को निकालती है मशीन

यह मशीन धड़कन को गिनकर तनाव कम करती है. ऋषभ के मुताबिक धड़कन के बढ़े रहने पर मशीन को पता चल जाता है कि व्यक्ति कितने तनाव में है. इसके बाद वह तनाव कम करने वाले हार्मोन अल्फा वेब को आर्टिफिशियली निकालना शुरू करती है. इस वेब के निकलने के बाद व्यक्ति का तनाव कम हो जाता है.

किसी भी हिस्से में लगा सकते मशीन

तनाव कम करने क लिए शरीर के किसी भी हिस्से में चिपकाना होगा. यह मशीन काफी छोटी है. ऋषभ ने बताया कि मशीन में सेंसर लगा हुआ है, जो किसी भी हिस्से से धड़कन बढ़ने का पता लगा लेगी. इस मशीन का उपयोग हाइपरटेंशन के मरीज कर सकते हैं. हालांकि सोते वक्त इसे हटा देना होगा.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here