0Shares

New Toll Tax System : वाहन चालकों को अब भारी-भरकम टोल टैक्स से जल्द ही मुक्ति मिलने वाली है। अब उन्हें लंबे-लंबे टोल टैक्स की बजाय सिर्फ उतना ही टोल टैक्स देना होगा, जितना उनकी गाड़ी हाईवे पर चलेगी। सरकार के इस फैसले से ना सिर्फ वाहन चालकों के पैसे बचेंगे, बल्कि साथ ही लोगों को लंबी-लंबी लाइनों से भी निजात मिलेगी।

मिली जानकारी के अनुसार यह प्रक्रिया सबसे पहले मध्य प्रदेश के जबलपुर रीवा और भोपाल जबलपुर नेशनल हाईवे से शुरू की जाएगी। पायलट प्रोजेक्ट के मद्देनजर इन हाईवे को चुना गया है। इन पर सक्सेस मिलने के बाद इसे एक-एक कर सभी टोल प्लाजा पर शुरू किया जाएगा। इसका सीधे तौर पर लाभ वाहन चालकों को ही मिलेगा।

New Toll Tax System

Also Read : CNG Station Patna : पटना में बढ़ेगी सीएनजी स्टेशनों की संख्या, पेट्रोल डीजल वाले वाहनों पर लगेगी रोक

New Toll Tax System : क्या है टोल टैक्स व्यवस्था

मौजूदा समय की टोल टैक्स व्यवस्था के मुताबिक एक टोल से दूसरे टोल के बीच की पूरी दूरी का जितना पैसा बनता , वाहन चालक को उतना टोल टैक्स चुकाना पड़ता है। ऐसे में चाहे उन्हें आधे रास्ते से ही अपना सफर क्यों ना खत्म करना पड़े, लेकिन फिर भी उन्हें एक टोल से दूसरे टोल तक की दूरी का पूरा टैक्स देना पड़ता है। वहीं, अब नए टोल टैक्स नियम के मुताबिक नेशनल हाईवे पर वाहन चालक को सिर्फ उतना ही टोल टैक्स देना होगा, जितना उनकी गाड़ी चलेगी। ऐसे में अगर किसी वाहन चालक को टोल प्लाजा से 10 से 20 किलोमीटर या अन्य किसी दूरी तक जाना है तो उसे उस दूरी तक के मान का ही टोल टैक्स देना होगा। उसे पूरा टोल टैक्स चुकाने की कोई जरूरत नहीं है।

इसके लिए सैटेलाइट नेविगेशन सिस्टम भी शुरू किया जा रहा है, जिसके मद्देनजर हर 10 किलोमीटर की दूरी पर ऑटोमेटिक नंबर प्लेट रिकॉग्नाइजर कैमरे लगाए जाएंगे, जिससे वाहन जिस जगह से नेशनल हाईवे पर आएगा बस वहीं का टोल टैक्स उसे चुकाना होगा। इसके लिए वाहनों के जीपीएस सिस्टम को इससे जोड़ा जाएगा। ऐसे में अगर किसी वाहन में जीपीएस सिस्टम नहीं लगा है, तो उसे सिस्टम लगवाना अनिवार्य होगा

Leave a comment

Your email address will not be published.