प्राइवेट अस्पतालों पर नीतीश सरकार ने कसा शिकंजा, कोरोना इलाज के लिए फिक्स किया रेट, अब इतने देने होंगे पैसे

0
9

पटना: बिहार में कोरोना वायरस का प्रभाव लगातार बढ़ता जा रहा है. हालात को देखते हुए सरकार ने सरकारी के अला निजी अस्पतालों में कोरोना मरीजों के इलाज की इजाजत दी. लेकिन इसी बीच लगातार निजी अस्पताल की ओर से कोरोना मरीजों के इलाज के लिए मनमाना रुपये की वसूलने की शिकायत आ रही थी. ऐसे में निजी अस्पताल संचालकों की मनमानी पर लगाम लगाने के लिए सरकार ने बड़ा फैसला लिया है.

नीतीश सरकार ने राय के सभी निजी अस्पतालों में कोरोना मरीजों के इलाज का रेट तय किया है. सरकार ने मरीजों की स्थिति को तीन केटेगरी में बांटते हुए रेट निर्धारित किए हैं. साथ ही इसका पालन हो सके, इसके लिए टीम गठित की गई है. टीम निजी अस्पतालों में निर्धारित राशि से अधिक की मांग और दवा की उपलब्धता और निर्धारित दर से अधिक से संबंधित शिकायतों की जांच करेगी. अनियमितता पाए जाने पर आपदा प्रबंधन अधिनियम-2005 और द ऐपीडेमिक डिजिसेस एक्ट-1897 के तहत कठोर कार्रवाई करेगी.

15 हजार नये केस आये सामने

बता दें कि बिहार में संक्रमण इन दिनों बड़ी तेजी से पांव पसार रहा है. पिछले 24 घंटे की बात करें तो राज्य में कुल 15,126 नए मरीज सामने आए हैं. ऐसे में राज्य में कोरोना के एक्टिव मरीजों की संख्या 1,15,151 हो गई है. वहीं, बीते 24 घंटे में कोरोना की जद में आकर 90 लोगों ने जान गंवाई है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here