Nitish Kumar : पत्नी की 16वीं पुण्यतिथि के मौके पर नालंदा जिले के हरनौत प्रखंड स्थित अपने पैतृक गांव कल्याण बिगहा पहुंचे बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के साथ एक बड़ा दिलचस्प मामला देखा गया।

मुख्यमंत्री ने अपनी पत्नी की प्रतिमा पर पुष्प अर्पित करके उन्हें श्रद्धांजलि दी। इस दौरान छठी कक्षा में पढ़ने वाला एक 11 वर्षीय बच्चा मुख्यमंत्री नीतीश कुमार से हाथ जोड़कर खड़ा हो गया और उनसे सरकारी स्कूल की जगह प्राइवेट स्कूल में भर्ती कराने की गुहार लगाने लगा। बच्चे की बात सुन मुख्यमंत्री ने तुरंत अधिकारियों को आवश्यक निर्देश दिए हैं।

Nitish Kumar : मुख्यमंत्री कल्याण बिगहा मध्य विद्यालय में ग्रामीणों की समस्याएं सुन रहे

हुआ ये कि मुख्यमंत्री कल्याण बिगहा मध्य विद्यालय में ग्रामीणों की समस्याएं सुन रहे थे। इसी दौरान हरनौत प्रखण्ड के नीमाकौल का क्लास 6 का एक छात्र सोनू कुमार अपनी समस्या लेकर वहां पहुंचा। मुख्यमंत्री जब लोगों से बातचीत कर रहे थे, तभी सोनू कुमार मुख्यमंत्री को आवाज लगाने लगा. उसने कहा “सर, सुनिये ना… सर सुनिये ना… जब मुख्यमंत्री ने बालक की आवाज सुनी तो ठहर गये। इसके बाद सोनू ने नीतीश कुमार से कहा कि वह पढ़ना चाहता है, पर उसके अभिभावक पढ़ाते नहीं है। इसलिए मुख्यमंत्री से उसने इंतजाम कराने की गुहार लगाई। बच्चे ने कहा कि उसका पिता रणविजय यादव दही बेचने का काम करता है और सारे रुपए शराब पीने में बर्बाद कर देता है।

देखे विडियो

गरीब परिवार से होने के कारण वह मध्य विद्यालय नीमा कौल के सरकारी स्कूल में पढ़ता है, जहां के शिक्षक भी गंभीरता से नहीं पढ़ाते। बच्चे ने कहा की अगर सरकार हमे मदद करे तो मैं भी पढ़ लिखकर आईएएस- आईपीएस बनना चाहता हूं। सोनू कुमार छठी कक्षा में पढ़कर 5वीं कक्षा तक के 40 बच्चों को शिक्षा देकर अपनी पढ़ाई का खर्च निकालता है। वही इस छोटे से बच्चे के जज्बे को देख वाहन मौजूद अधिकारी से लेकर नेता तक दंग रह गए।

नीतीश कुमार ने जब उसकी फरियाद सुनी तो फौरन अधिकारियों को कहा कि इस बच्चे का मामला देखिये। ये पढ़ना चाहता है, लेकिन अभिभावक नहीं पढ़ा पा रहे हैं। इसकी पढ़ाई का इंतजाम कीजिये।

Leave a comment

Your email address will not be published.