पटनाः बिहार विधानसभा चुनाव में घटिया प्रदर्शन के बाद नीतीश कुमार ने पार्टी संगठन में बड़े-बड़े बदलाव किए हैं. आधार वोट बैंक दरकने के बाद खुद जेडीयू के राष्ट्रीय अध्यक्ष का पद छोड़ कर अपने सबसे करीबी और भरोसेमंद आरसीपी सिंह (कुर्मी) को कुर्सी पर बैठा दिया जबकि प्रदेश अध्यक्ष कोईरी जाति से आने वाले पूर्व विधायक उमेश कुशवाहा को बना दिया.

लव-कुश समीकरण की दुहाई देने वाली जेडीयू पार्टी पर कर्पूरी ठाकुर के जयंती समारोह में प्रदेश अध्यक्ष उमेश कुशवाहा के साथ कुछ ऐसा हुआ कि सोशल मीडिया में बवाल मच गया.

दरअसल, दीप प्रज्वलित करने के समय सीएम के साथ विजेन्द्र यादव, विजय चौधरी और अशोक चौधरी जैसे मंत्री आगे खड़े रहे. जबकि, प्रदेश अध्यक्ष उमेश कुशवाहा जहानाबाद सांसद चन्देश्वर चंद्रवंशी के साथ पीछे नजर आये. इस पर नीतीश कुमार के कुशवाहा समाज के साथ दोयम दर्जे का व्यवहार करने का आरोप लगने लगा है.

ये भी पढ़ेंः बीजेपी ही नहीं जेडीयू नेताओं की भी एक नहीं सुनते पुलिस अधिकारी! नीतीश को लिखा पत्र

जेडीयू के पूर्व युवा अध्यक्ष और वर्तमान में आरएलएसपी के कार्यकारी प्रदेश अध्यक्ष संतोष कुशवाहा ने नीतीश कुमार पर जमकर निशाना साधा है. संतोष कुशवाहा ने सोशल मीडिया लिखा, कड़वा सच लाल घेरे में जद यू के प्रदेश अध्यक्ष उमेश कुशवाहा हैं कितनी इज्जत है देख लीजिए. इसलिए मैं हमेशा कहता हूं लव कुश के नाम पर ठगा गया कुशवाहा समाज.

वहीं, युवा आरजेडी के प्रदेश महासचिव अजित सिंह कुशवाहा ने भी इसी वायल फोटो को शेयर कर नीतीश कुमार पर निशाना साधा है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here