पटनाः बिहार विधानसभा चुनाव के तीसरे चरण के चुनाव प्रचार के आखिरी दिन जेडीयू अध्यक्ष सह बिहार के सीएम नीतीश कुमार ने  राजनीति से संन्यास लेने का एलान कर दिया. नीतीश कुमार के एलान करते ही सियासत के केंद्र बिंदु में आ गए हैं. उनके राजनीति से संन्यास को लेकर अलग-अलग तरह की प्रतिक्रिया आ रही है.

राजनीति से एलान की घोषणा करने के बाद शुक्रवार को सीएम नीतीश कुमार ने पार्टी के कोर ग्रुप की बैठक बुलाई है. इसको लेकर ऐसी चर्चा है कि सीएम नीतीश इस बैठक में राजनीति से अपने रिटायरमेंट को लेकर बात कर सकते हैं. उल्लेखनीय है कि बिहार विधानसभाा चुनाव में चिराग पासवान के विरोध के बावजूद नीतीश कुमार एनडीए के मुख्यमंत्री का ‘चेहरा’ हैं. इससे नाराज चिराग पासवान एनडीए से अलग होकर जेडीयू के खिलाफ अपने कैंडिडेट्स उतारे हैं.

Immediately Receive Kuwait Hindi News Updates

jp nadda nitish kumar
बीजेपी नेताओं के साथ सीएम नीतीश कुमार

चुनावी मंचे से नीतीश ने खेला दांव

बता दें कि पूर्णिया के धमदाहा में नीतीश कुमार ने गुरुवार को एक चुनावी सभा को संबोधित करते हुए जेडीयू प्रत्याशी लेशी सिंह को विजयी बनाने की अपील करते हुए कहा था, “आज चुनाव प्रचार का आखिरी दिन है. परसो चुनाव है और मेरा यह अंतिम चुनाव है. अंत भला तो सब भला. अब आपलोग बताईए वोट एनडीए के प्रत्याशी को दीजिएगा न.”

पार्टी नेताओं से करेंगे गुफ्तगू

इस दौरान उन्होंने गुरुवार को इस चुनाव को अपना अंतिम चुनाव बताया. उन्होंने अपनी सभी चुनावी सभाओं में कहा है कि अगर लोगों ने उन्हें आगे मौका दिया तो वे लोगों की सेवा करते रहेंगे. गौरतलब है कि विधानसभा चुनाव के तीसरे और अंतिम चरण में 7 नवंबर को 78 सीटों पर मतदान होना है. चुनाव को ध्यान में रखते हुए नीतीश के तरकश से छोड़ा गया इमोशनल सियासी तीर कहा जा रहा है. वहीं, अब नीतीश कुमार अपने खास सिपाहसलाह से मंत्रणा करेंगे.

Get Today’s City News Updates

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *