पटनाः बिहार विधानसभा चुनाव की तारीखों का ऐलान शुक्रवार को हो गया. इस बार पिछले बार के तुलना में सात की जगह मात्र तीन चरणों में वोटिंग होगी. लेकिन एनडीए और महागठबंधन में सीटों का मसला अब तक नहीं सुलझ पाया है. बिहार विधानसभा चुनाव की तारीखों की घोषणा का सीएम नीतीश कुमार ने स्वागत किया.

शुक्रवार को सीएम नीतीश कुमार ने प्रेस कॉन्फ्रेंस कर मीडिया के कई सवालों का जवाब दिया जिसमें एनडीए और महागठबंधन और राम विलास पासवान से जुड़े थे. नीतीश कुमार ने कहा कि रामविलास पासवान से हमेशा हमारे अच्छे रिश्ते रहे हैं, कौन क्या कहता है, इस पर नहीं जाना चाहिए. नीतीश कुमार ने यह भी कहा कि नई पीढ़ी को यह पता चलना चाहिए कि आज से 15 साल पहले बिहार की कैसी स्थिति थी. नई पीढ़ी को यह भी जानकारी होनी चाहिए कि आज से 15 साल पहले लोग शाम में घरों से निकलते नहीं थे, किसी के पास कोई काम नहीं था.

ये भी पढ़ेंः जिसका पूरा देश था कायल, चुनाव से पहले ही जेडीयू से दिया इस्तीफा

उपेंद्र कुशवाहा और चिराग पर बीजेपी करेगी फैसला

वहीं, आरएलएसपी के अध्यक्ष उपेंद्र कुशवाहा  से जुड़े एक सवाल के जवाब में नीतीश कुमार ने कहा कि हम साथी और विरोधी सभी की सम्मान करते हैं. एनडीए में उपेंद्र कुशवाहा, बीजेपी के पार्टनर रहे हैं, उन पर फैसला बीजेपी को करना है. नीतीश कुमार ने कहा है कि 2019 के लोकसभा चुनाव के पहले जो बीजेपी का साथ छोड़ कर चले गए और जो रह गए दोनों के ऊपर बीजेपी को ही फैसला करना है.

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *