पटनाः पटना के डाकबंगला चौराहे पर युवा राजद कार्यकर्ताओं और पुलिस के बीच आज जमकर हिंसा झड़प हुई. राजद कार्यकत्ताओं के तरफ से पत्थरबाजी हुई तो पुलिस ने लाठी चार्ज कर दिया. बढ़ते पेट्रोल डीजल, बेरोजगारी, महंगाई जैसे अन्य मुद्दों को लेकर युवा राजद आज विधानसभा का घेराव करने वाले थे. इस मार्च में तेजस्वी यादव और तेजप्रताप भी शामिल हुए.
पुलिस ने इस मार्च को डाकबांगला चौराहे पर बैरिकेडिंग लगा कर रोकने की भरपूर कोशिश की. लेकिन राजद कार्यकर्ता भी पूरे जोश में थे और किसी भी हालात में वो विधानसभा पहुंचना चाहते थे. मगर जब वो नहीं माने तब पुलिस ने पहले वाटर कैनन का इस्तेमाल किया. वहीं युवा राजद कार्यकर्ताओं ने पुलिस पर पत्थरबाजी शुरू कर दी. जिसके बाद पुलिस ने हालात को नियंत्रण करने के लिए लाठीचार्ज कर दिया. इस झड़प में कई राजद कार्यकर्ताओं को गंभीर चोटे आईं.

हिरासत में लिये गए तेज-तेजस्वी

वहीं कुछ पुलिस और मीडियाकर्मी को भी चोटे लगी. इस दौरान तेजस्वी यादव और तेजप्रताप काफी गुस्से में दिखे और कई बार उन्हें अपना आपा खोते भी देखा गया. अंत में पुलिस ने तेजस्वी यादव और तेजप्रताप को हिरासत में ले लिया. तब जाकर मामला कुछ शांत हुआ.

डाकबंगला चौराहे पर अफरातफरी का माहौल

लगभग तीन चार घंटो तक पटना के डाकबांगला चौराहे पर युवा राजद कार्यकर्ताओं और पुलिस के बीच हिंसात्मक माहौल बना रहा. इस घटना से किसे क्या मिला यह एक बड़ा सवाल है. लेकिन इस मार्च में दूर दराज से आए कई नौजवानों को लाठी के अलावा कुछ नहीं मिला.

आरजेडी कार्यकर्ताओं पर पुलिस की लाठी चार्ज से कई नेता और कार्यकरेताओं के घायल होने पर तेजस्वी गुस्से में हैं. उन्होंने सीएम निशाना साधते हुए कहा कि नीतीश कुमार समाजवाद के नाम पर कलंक है. धब्बा है. लोहिया जयंती के दिन सड़क पर हमारे साथ नौकरी माँग रहे बेरोजगारों पर लाठीचार्ज और पत्थरबाज़ी करवाते हैं. और उसी दिन सदन में काला पुलिसया क़ानून लेकर आते है. हम इनकी गुंडागर्दी नहीं चलने देंगे. चलाओ गोली मर्द हो तो.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here