पटनाः  नालंदा मेडिकल कॉलेज हॉस्पिटल (NMCH) के सर्जरी वार्ड में एक मरीज की मौत के बाद जमकर हंगामा हुआ है. मृतक परिजनों ने जमकर हंगामा और तोड़-फोड़ किया. आक्रोशित परिजन अस्पताल के सर्जरी वार्ड के बाहर सामानों को क्षतिग्रस्त करने के साथ ही डॉक्टरों के साथ गाली-गलौज करने लगे.

मृतक के परिजनों के गुस्से को देखते हुए ड्यूटी पर मौजूद डॉक्टरों ने अपनी जान बचाने के लिए खुद को कमरे के अंदर बंद कर लिया. हालांकि, गुस्साए लोगों ने कमरे दरवाजा खोलने की कोशिश की लेकिन डॉक्टर डर से कमरे के अंदर ही बंद रहे और दरवाजा नहीं खोला. इस घटना के समय कोई भी पुलिसकर्मी मौजूद नहीं था.

लेट से पहुंची पुलिस

इस घटना से डॉक्टरों में आक्रोश है. डॉक्टरों का कहना है कि घटना के समय पुलिस से कई बार मदद की गुहार लगाई, लेकिन पुलिस समय पर नहीं आई बल्कि पुलिस मामला शांत होने पर पहुंची. इधर, परिजनों का आरोप है कि डॉक्टरों लापरवाही से मरीजों की जान गई.

ये भी पढ़ेंः बिहार के इस जिले में सप्ताह में 2 दिन का लॉकडाउन, 15 मई तक शनिवार और रविवार को बंद रहेगें बाजार

बता दें कि डॉक्टरों के साथ 22 और 23 अप्रैल को मारपीट हुई है, जिसके बाद आक्रोशित जूनियर डॉक्टर 23 अप्रैल को हड़ताल पर चले गए थे. गुरुवार रात में भी रजिस्ट्रेशन को लेकर लोगों ने हंगामा किया था. अधीक्षक ने जिला प्रशासन से फोर्स की डिमांड की थी, लेकिन 15 घंटे बाद भी फोर्स नहीं मिली जिस कारण से फिर हाथापाई हो गई. इसके बाद जूनियर डॉक्टर हड़ताल पर चले गए थे. हालांकि, 23 अप्रैल को DM और SSP ने NMCH में लगभग एक घंटे तक जूनियर व सीनियर डॉक्टरों के साथ बैठक कर मामले को सुलझाया.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here