पप्पू यादव का छलका दर्द, कोरोना में लोगों की जिंदगी बचाने के लिए जान हथेली पर रखना अपराध है तो मैं अपराधी हूं

0
13

पटनाः कोरोना काल में बतौर नायक के तौर पर उभरे जाप सुप्रीमो पप्पू यादव को लोगों की मदद करने महंगी पड़ गई है. पटना के उत्तरी मंदिरी स्थित आवास पर मंगलवार की सुबह बुद्धा कॉलोनी थाना की पुलिस पहुंची. लॉकडाउन के नियमों की अनदेखी कर रहे पप्पू यादव को पुलिस ने नियमों का पालन करने को लेकर चेतावनी दी. वहीं, पूरे राज्य में बात आग की तरह फैल गई कि जाप सुप्रीमो को हाउस अरेस्ट कर लिया गया है.

मंगलवार को हाउस अरेस्ट होने के बाद पप्पू यादव ने ट्वीट कर इसकी जानकारी तो दी ही इसके साथ ही एक ऐसा पोस्ट उन्होंने किया जिसमें उनकी भावुकता झलकी. उन्होंने लिखा “कोरोनाकाल में जिंदगियां बचाने के लिए अपनी जान हथेली पर रख जूझ रहे हैं. अगर ऐसे करना अपराध है, तो हां मैं अपराधी हूं.”

पप्पू यादव ने दी चेतावनी

प्रधानमंत्री और मुख्यमंत्री से कहा कि दे दो फांसी, या, भेज दो जेल. झुकूंगा नहीं, रुकूंगा नहीं. लोगों को बचाऊंगा. बेईमानों को बेनकाब करता रहूंगा! वहीं. दूसरी ओर गिरफ्तारी के तुरंत बाद ही रिलीज पप्पू यादव ट्विटर पर एक नंबर पर ट्रेंड करने लगा. लोग अपनी प्रतिक्रिया देने लगे.

ये भी पढ़ेंः लॉकडाउन में कोरोना पीड़ितों की मदद करने पड़ी भारी! पप्पू यादव को पटना पुलिस ने किया ‘गिरफ्तार’

बता दें कि मंगलवार सुबह में पप्पू यादव की हुई गिरफ्तारी के बाद पटना के गांधी मैदान थाना के बाहर उनके कार्यकर्ताओं की भीड़ लग गई.

डीएसपी, थाना प्रभारी और पप्पू यादव के समर्थकों के बीच जमकर बहस हुई. पार्टी से जुड़े लोगों के पूछे जाने पर कि गिरफ्तार क्यों किया गया है इसपर पुलिस ने पल्ला झाड़ दलिया और कहने लगे नहीं बताएंगे, जहां जाना है जाओ.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here