लॉकडाउन ने रोक दी कोरोना की रफ्तार! पटना जिले जिले वासियों के लिए राहत भरी खबर, इस ब्लॉक में है सबसे कम केस

0
6

पटना: बिहार में कोरोना संक्रमण के रफ्तार पर ब्रेक लगाने में लॉकडाउन काफी कारगर साबित हुआ है. बिहार में सबसे बड़ा हॉटस्पॉट बना पटना जिला के लिए पहली बार राहत की खबर है. पटना जिले में कोरोना संक्रमितों की संख्या में लगातार कमी हो रही है. जिले के कोरोना संक्रमितों की कुल संख्या 15 हजार 42 हो चुकी है.

खास बात यह है कि 3 हजार की जगह अब तीन-चार दिनों से प्रतिदिन मिलने वाले कोरोना संक्रमितों का आंकड़ा औसतन 1500 के आसपास ही रह रहा है़. वहीं, जितने लोग बीमार हो रहे हैं, उससे अधिक लोग रिकवर हो रहे हैं. बुधवार को सिर्फ 977 कोरोना संक्रमित मिले, जबकि कुछ दिनों से यह आंकड़ा 1500 के आसपास था. पटना सदर प्रखंड के साथ ही अन्य प्रखंडों में भी कोरोना संक्रमितों की संख्या कम हो रही है़.

कई प्रखंड में 100 से नीचे केस

पटना जिले में दस प्रखंड ऐसे हैं, जहां कोरोना संक्रमितों की संख्या 100 से नीचे पहुंच गई है़. खास बात है कि नालंदा जिसे से सटे दनियावां ब्लॉक में सबसे कम संक्रमित हैं. वहीं, शहर में कोरोना के बढ़ते मामले और लगातार हो रही मौत को देखते हुए स्वास्थ्य विभाग लगातार सुविधाएं बढ़ाने के प्रयास में जुटा है. शहर के पीएमसीएच, आइजीआइएमएस, एनएमसीएच व एम्स में कोविड मरीजों के लिए अतिरिक्त बेड बढ़ाये गये हैं.

ये भी पढ़ेः हो जाइये तैयार, बिहार में लॉकडाउन का बढ़ना तय, नीतीश सरकार इतने दिन बढ़ाने पर कर रही मंथन…

बता दें कि 100-100 ऑक्सीजन युक्त बेड की राजेंद्र नगर सुपरस्पेशलिटी व इएसआइसी बिहटा में भी व्यवस्था की गई है. इसके अलावा आइजीआइएमएस में 50 बेड बढ़ाया जायेगा जिसमें 10 बेड का आइसीयू बच्चों के लिए, 10 बेड बुजुर्गों के लिए रखे गये हैं. अब आइजीआइएमएस में कोरोना मरीजों के लिए 345 बेड हो जायेंगे.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here