0Shares

Patna Elevated Road : बिहार से अन्य राज्यों व अंतर्राज्यीय सड़क मार्ग की कनेक्टिविटी मजबूत करने के लिये राज्य सरकार कई मुख्य सड़कों का निर्माण करवा रही हैय़ इसके पीछे का एक कारण लोगों को ट्रैफिक जाम की समस्या से निजात दिलाना भी है। इसी बीच अब पटना एम्स से लेकर अनीसाबाद के रास्ते कच्ची दरगाह तक ऊंची रोड बनाये जाने की खबर भी मिली है। इस सड़क के निर्माण से इलाके के किसी भाग से राजधानी पटना आने हेतु कच्ची दरगाह से एम्स तक न्यू बाईपास मार्ग के ट्रैफिक जाम से राहत मिलेगी।

आम तौर पर अब लोग शहर के एक छोर से दूसरे छोर तक ऊपर ही ऊपर सरलता से सफर तय कर पायेंगे। बता दें कि इस राष्ट्रीय राजमार्ग पर ऊंची रोड बनाने का प्रस्ताव राज्य सड़क निर्माण मंत्री ने केंद्र सरकार के समक्ष रखा है। इसके अनुसार, पटना एम्स से पटना न्यू बाईपास टोल प्लाजा के मध्य ऊंचा मार्ग बनाया जाएगा।

Patna Elevated Road

Also Read : Ganga Path : बिहारवासियों को मिलेगी एक और भव्य सड़क की सौगात, जाम की समस्या से मिलेगी निजात

Patna Elevated Road : लगभग 1,800 करोड़ रुपए की लागत

मिली जानकारी के अनुसार 18 किलोमीटर लंबे ऊंचे पथ को बनाने में लगभग 1,800 करोड़ रुपए की लागत आएगी। पटना एम्स से अनीसाबाद मोड़ तक 7 किलोमीटर लंबी ऊंची रोड निर्मित करने का प्रस्ताव राष्ट्रीय राजमार्ग के वार्षिक योजना में सम्मिलित हो चुका है। अभी सेंट्रल गवर्नमेंट को अनीसाबाद से कच्ची दरगाह तक 11 किलोमीटर ऊंची सड़क निर्माण के लिए ही प्रस्ताव दिया गया है। 31 मई को दिल्ली में सड़क निर्माण मंत्री नितिन नवीन ने केंद्रीय सड़क परिवहन एवं राजमार्ग मंत्री नितिन गडकरी से मुलाकात कर अनीसाबाद-कच्ची दरगाह के मध्य न्यू बाईपास सड़क पर ट्रैफिक जाम की समस्या की वजह से ऊंचे मार्ग बनाने का प्रपोजल दिया था।

इसके बाद ही गत 7 जून को नितिन गडकरी बिहार के भ्रमण पर आए थे। हाजीपुर में आयोजित एक कार्यक्रम में केंद्रीय मंत्री ने इस प्रस्ताव पर विचार प्रकट करते हुए दो लेन की ऊंची सड़क बनाने की बात कही। हालांकि, राज्य सरकार से इस पर प्रस्ताव भी मांगा गया था। केंद्रीय मंत्री की घोषणा के 10 दिनों के भीतर ही सड़क मंत्री नितिन नवीन ने दक्षिण पटना की बड़ी जनसंख्या को भारी जाम से निजात दिलाने के लिए ऊंचे मार्ग बनाने का प्रस्ताव केंद्र सरकार को भेजा है। केंद्र सरकार से औपचारिक मंजूरी मिलने के बाद 18 किलोमीटर लंबी थ्री लेयर रोड बनायी जायेगी। इस परियोजना में नीचे की सड़क पर आम जनता पैदल चल पायेगी। फोरलेन फर्स्ट लेयर पर आने का रास्ता रहेगा, जबकि फोर लेन सेकंड लेयर पर जाने की सुविधा रहेगी।

Leave a comment

Your email address will not be published.