0Shares

Patna-Gaya-Dobhi Fourlane : बहुप्रतिक्षित पटना-गया-डोभी फोरलेन सड़क निर्माण की बड़ी बाधा दूर कर ली गयी है। इस एनएच-83 पर 5 जगहों पर आरओबी बनाने हेतु पूर्व मध्य रेलवे ने स्वीकृति प्रदान कर दी है। पटना उच्च न्यायालय में सुनवाई के दौरान पूर्व मध्य रेलवे के जनरल मैनेजर ने बताया कि, रेलवे ने इस फोरलेन पर प्रस्तावित सभी 5 आरओबी के निर्माण की सहमति दे दी है।

अब शिघ्र ही आरओबी का निर्माण कार्य प्रारंभ होगा। फिलहाल निविदा की प्रक्रिया शुरू की जानी है। हालांकि, एजेंसी का चयन होते ही वर्क ऑर्डर जारी कर दिया जाएगा। निर्माण कार्य कब तक पूरा होगा, इसकी कोई जानकारी किसी विभाग ने उपलब्ध नहीं कराई है।

Patna-Gaya-Dobhi Fourlane

Also Read : New Railway Line Bihar : बिहार में एक और नयी रेलवे लाइन का निर्माण कार्य समापन की ओर, जानें कब शुरू होगा परिचालन

Patna-Gaya-Dobhi Fourlane : पटना हाईकोर्ट ने 3 अधिवक्ताओं की टीम तैयार की

आपको बता दें की, NH-83 के निर्माण में आ रहीं समस्याओं और काम की प्रगति के निरीक्षण हेतु पटना हाईकोर्ट ने 3 अधिवक्ताओं की टीम तैयार की है। इन अधिवक्ताओं में प्रिय रंजन, याचिकाकर्ता के अधिवक्ता मनीष गुप्ता और आलोक कुमार राही है। दरअसल, प्रतिज्ञा संस्था ने पटना हाईकोर्ट में NH-83 का निर्माण कार्य जल्दी करवाने के लिए याचिका दायर की थी। मामले की सुनवाई मुख्य न्यायाधीश संजय करोल एवं न्यायाधीश एस कुमार की खंडपीठ ने की है। पटना हाईकोर्ट का आदेश है कि, पटना एवं जहानाबाद के जिलाशासकों, एसपी एवं संबंधित भूमि अधिग्रहण अधिकारी भी अधिवक्ताओं की टीम के साथ निर्माणाधीन NH का अवलोकन करें।

इस मामले की अगली सुनवाई 30 जून को होनी है। उस दिन यह टीम अपनी रिपोर्ट कोर्ट को सौंपेगी। इसके पहले हाईकोर्ट में गुरुवार की सुनवाई में राज्य सरकार ने कहा है कि वह NH निर्माण में हरस्तर पर मदद के लिये तैयार है। ज्ञात हो कि 930 करोड़ की लागत से पटना-गया-डोभी फोरलेन सड़क का निर्माण कराया जा रहा है। इस 88 किमी लंबी सड़क को बनाने की स्वीकृति केंद्र सरकार ने दो पैकेज में दी है। हालांकि, इसके निर्माण से पटना एयरपोर्ट से गया एयरपोर्ट की दूरी 100 मिनटों में तय की जा सकेगी। साथ ही पटना का ग्रैंड ट्रंक रोड से डायरेक्ट कनेक्टिविटी हो जाएगी।

Leave a comment

Your email address will not be published.