मेट्रो से यात्रा करने वाले लोगों के लिए एक अच्छी खबर है। पटना मेट्रो के एलिवेटेड रूट के बाद अब अंडरग्राउंड यानी भूमिगत मेट्रो स्टेशनों का काम भी तेज हो गया है। अंडरग्राउंड मेट्रो के रूट पर सबसे पहले उन जगहों को चिह्नित कर घेराबंदी की जा रही है, जहां भविष्य में मेट्रो स्टेशन बनाए जायेंगे।

इसमें आकाशवाणी, गांधी मैदान, विश्वविद्यालय और मोइनुलहक स्टेडियम का इलाका शामिल है। यहां अंडरग्राउंड मेट्रो स्टेशन का निर्माण होना है। इसके लिए मिट्टी की जांच आदि हो चुकी है। अब खुदाई का काम शुरू किया गया है। तकनीकी कार्य पूरा होने के बाद यहां स्टेशन का निर्माण शुरू हो जाएगा।

मिली जानकारी के अनुसार, पहले भूमिगत मेट्रो स्टेशन बनाए जाएंगे, इसके बाद रूट के लिए टनल बनाने का काम होगा। योजना के अनुसार कॉरिडोर-एक के एलिवेटेड रूट पर बनने वाले स्टेशनों के निर्माण पर करीब 528 करोड़ रुपये, जबकि अंडरग्राउंड रूट के स्टेशनों के निर्माण पर करीब दो हजार करोड़ रुपये की लागत आएगी।

पटना मेट्रो

Also Read : पटना मेट्रो का काम जोरों पर, अगले छह महीने पटना में रह कर जायका की टीम लेगी जायजा

पटना मेट्रो के कॉरिडोर-एक और कॉरिडोर-दो मिला कर कुल 24 स्टेशन

पटना मेट्रो के कॉरिडोर-एक और कॉरिडोर-दो मिला कर कुल 24 स्टेशन बनाए जाने हैं। इसमें एक दर्जन स्टेशन भूमिगत होंगे। इसमें कॉरिडोर-एक यानी दानापुर से खेमनीचक के बीच रूकनपुरा, राजा बाजार, चिड़ियाघर, विकास भवन, विद्युत भवन और पटना जंक्शन पर भूमिगत स्टेशन होगा। इसके अलावा कोरिडोर-दो यानी पटना स्टेशन से न्यू आइएसबीटी के बीच आकाशवाणी, गांधी मैदान, पीएमसीएच, विश्वविद्यालय, मोइनुलहक स्टेडियम और राजेंद्रनगर भूमिगत स्टेशन हैं। पटना जंक्शन इंटरचेंज स्टेशन है।

मलाही पकड़ी से न्यू आइएसबीटी के बीच बनने वाले एलिवेटेड रूट के बाद अब पटना दानापुर से पाटलिपुत्र स्टेशन के बीच बनने वाले रूट पर भी काम शुरू हो गया है। इस रूट के 14 स्टेशनों में दानापुर से पाटलिपुत्र तक के पहले चार और मीठापुर से खेमनीचक तक अंतिम चार स्टेशन एलिवेटेड रहेंगे। इस कारिडोर के अंडरग्राउंड रूट पर काम की शुरुआत जाइका से ऋण मिलने के बाद होगी।

Leave a comment

Your email address will not be published.