सहरसा: केंद्रीय मंत्री रामविलास पासवान का गुरुवार की रात निधन हो गया. जिसके बाद से पूरे बिहार में शोक की लहर है. वहीं, उनकी मौत की खबर सुनते ही सहरसा प्रदेश महासचिव सरिता पासवान ने दुःख प्रकट करते हुए कहा कि बेहद दुख का घड़ी है,

हमारे लोजपा परिवार के साथ ही इस देश के लिए भी. देश ने दूसरा अम्बेडकर खो दिया है और आज पूरा लोजपा परिवार काफी मर्माहत है. इस क्षति की पूर्ति नहीं हो सकती.

उन्होंने कहा कि मैं चाहूंगी कि फिलहाल हम सभी लोजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष चिराग पासवान के साथ मजबूती से खड़े रहें ताकि उनके दर्द को कुछ कम किया जा सके.
Get Today’s City News Updates

विकास युग हमारे देश से समाप्त हो गया
प्रदेश महासचिव सरिता पासवान ने कहा कि आज एक विकास युग हमारे देश से समाप्त हो गया है. गरीबों के नेता और सभी के दिलों में बसनेवाले जननायक आज हमलोगों के बीच नहीं हैं. लेकिन हमें पूर्ण विश्वास है

कि उनका आशीर्वाद और उनकी एक-एक बातें हम लोगों के साथ है और वही हमें हिम्मत और हौसला देगी.

ये भी पढ़ें.ओवैसी के साथ बिहार में बना ग्रैंड डेमोक्रेटिक सेक्युलर फ्रंट, उपेन्द्र कुशवाहा बने सीएम उम्मीदवार

हाजीपुर को कहते थे अपनी मां
वहीं, वैशाली में रामविलास पासवान की मौत की खबर के बाद जगह-जगह उनके चाहने वाले सड़क पर निकल कर उनको श्रद्धांजलि देते दिखे. इस दौरान कई लोग अपने नेता को याद कर भावुक दिखे.

बता दें कि हाजीपुर रामविलास पासवान की कर्मभूमि रही है और वे 8 बार यहां से सांसद रहे. 1977 से राजनीति की शुरुआत करने वाले रामविलास पासवान अक्सर हाजीपुर को अपनी मां कहा करते थे.

Immediately Receive Kuwait Hindi News Updates

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *