पूर्व केंद्रीय मंत्री रघुवंश प्रसाद सिंह का आज निधन हो गया. रघुवंश बाबू के निधन पर पीएम मोदी ने शोक जताया है. पीएम ने  श्रद्धांजलि देते हुए कहा कि- रघुवंश बाबू के निधन से बिहार और देश की शून्य पैदा हुआ है. गरीबी को समझने वाले और जमीन से जुड़े शख्स थे रघुवंश प्रसाद सिंह. बीजेपी के संगठन में था तो रघुवंश जी से लगातार परिचय रहा. टीवी डिबेट में हमारे बीच वाद-विवाद चलता था.

पीएम मोदी ने कहा कि  गुजरात का मुख्यमंत्री होने के नाते विकास कार्यों के लेकर उनके (रघुवंश प्रसाद सिंह) संपर्क में लगातार रहता था. उनके स्वास्थ्य को लेकर मैं चिंता करता था और जानकारियां लेता रहता था.  रघुवंश बाबू के भीतर पिछले कुछ दिनों से मंथन चल रहा था. जिन आदर्शों को लेकर चले थे, जिनके साथ चले थे, उनके साथ चलना अब उनके लिए संभव नहीं था. उनका मन जद्दोजहद में था.

मनरेगा लागू करने में थी अहम भूमिका

बता दें कि देश में मनरेगा जैसी योजना का श्रेय यूपीए में सरकार में ग्रामीण विकास मंत्री रहे रघुवंश प्रसाद को जाता है. हालांकि, आरजेडी नेता और लालू प्रसाद यादव के सबसे निकट सहयोगी रहे रघुवंश प्रसाद कई दिनों से पार्टी से नाराज चल रहे थे. एम्स में इलाज के दौरान ही दो दिन पहले अपना इस्तीफा लालू प्रसाद यादव को भेजा था. जिसके जवाब में लालू ने चिट्ठी लिखकर उनसे कहा था, आप कहीं नहीं जा रहे हैं’. रघुवंश बाबू के निधन पर लालू प्रसाद ने गहरी संवेदना व्यक्त की है.

Get Daily City News Updates

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *