मुंगेर. बिहार विधानसभा चुनाव के मद्देनजर पुलिस नक्सलियों को पकड़ने का अभियान चला रही है. जिससे आगामी चुनाव में कोई भी समस्या उत्पन्न ना हो. इसी सिलसिले में पुलिस ने बड़ी कार्रवाई करते हुए तीन बड़े नक्सलियों को गिरफ्तार किया है. जिला पुलिस और एसएसबी की संयुक्त कार्रवाई में थाना क्षेत्र से गिरफ्तार हार्डकोर नक्सलियों में छोटी मधुबन निवासी शिवशंकर चौड़े, जेठू कोड़ा और दिलीप किस्कू शामिल है.

डीएसपी संजय पांडेय ने बताया कि जिस शिवशंकर चौड़ा को गिरफ्तार किया है, उसका संबंध 30 मई 2018 को खड़गपुर झील के जीर्णोद्धार कार्य में लगे एजेंसी के 4 पोकलेन और एक मोटरसाइकिल जलाने के मामले से है. पुलिस के अनुसार शिवशंकर चौड़े जीर्णोद्धार कार्य में मजदूरी का काम करता था और तमाम सूचनाएं नक्सलियों तक पहुंचाता था. उस पर 2018 में 30 मई को खड़गपुर झील के जीर्णोद्धार कार्य में लगे एजेंसी के 4 पोकलेन, 2 हाईवा और एक मोटरसाइकिल जलाने में शामिल होने का आरोप है.

पुलिस की गिरफ्त में नक्सली
पुलिस की गिरफ्त में नक्सली

नक्सल घटना को अंजाम देते रहे हैं नक्सली

उन्होंने बताया कि दिलीप किस्कू कुख्यात नक्सली बीरबल का साला है. 2014 में गंगटा थाना क्षेत्र में मिनी गन फैक्ट्री के संचालन मामले में इसकी गिरफ्तारी भी हुई थी. वर्ष 2014 में गंगटा थाना क्षेत्र में मिनी गन फैक्ट्री के संचालन मामले में 219/14 में इसकी गिरफ्तारी भी हुई थी. वहीं जेठू कोड़ा कांड संख्या 201/20 का नामजद रहा है उन्होंने बताया कि गिरफ्तार तीनों नक्सलियों का नक्सल घटना में विशेष योगदान रहा है.

ये भी पढ़ेंः चुनाव में सोशल मीडिया का दुरूपयोग करने से पहले होशियार रहिए, वर्ना लेने के देने पड़ेंगे

चुनाव से पहले गिरफ्तारी बड़ी उपलब्धि

खड़गपुर डीएसपी ने बताया कि गिरफ्तार तीनों नक्सलियों का नक्सली घटनाओं में योगदान रहा है और कई नक्सलियों से इसके संबंध रहे हैं. उन्होंने बताया कि विधानसभा चुनाव के पहले इन तीनों की गिरफ्तारी एक बड़ी उपलब्धि है. वहीं, एसडीपीओ संजय पांडेय ने बताया कि शिवशंकर चौड़ा का पिता अशोक चौड़ा राज्य स्तरीय नक्सली है, जो पिछले 15 वर्षों से अधिक समय से फरार चल रहा है.

Get Daily City News Updates

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *