पटनाः प्लुरल्स पार्टी की मुखिया और सीएम कैंडिडेट पुष्पम प्रिया चौधरी को बिहार विधानसभा चुनाव में करारी हार के का सामना करना पड़ा. खुद पुष्पम को दोनों सीटों पर मुंह की खानी पड़ी. बावजूद इसके अगले चुनाव को लेकर संगठन को मजबूत करने में जुट गई है.

Immediately Receive Kuwait Hindi News Updates

पुष्पम प्रिया इन दिनों चुनाव के सभी पूर्व कैंडिडेट से लगातार मिल रही है. वहीं, बिहार में पार्टी की मजबूती के लिए छात्र संगठन को धरातल पर काम किया जायेगा. शुक्रवार को नालंदा के युवा कार्यकर्ताओं ने पार्टी सुप्रीमों से मुलाकात की. इस दौरान  उन्होंने कहा कि प्लुरल्स पार्टी की अलग स्टूडेंट विंग की स्थापना की जा रही है, पाटलिपुत्र विश्वविद्यालय के इन छात्रों को भी छात्र-छात्राओं की स्थानीय टीम गठित करने को कहा है.

सबकी पार्टी है प्लुरल्स

प्लुरल्स ने लंबा रास्ता चुना है लेकिन सही रास्ता चुना है. हमारी पार्टी किसी भी जाति या धर्म या विचारधारा विशेष की या उसके द्वेष पर आधारित पार्टी नहीं है. यह सबकी पार्टी है. जब पार्टी से जुड़े लोग मुझे कहते हैं कि हमने कभी सोचा भी नहीं था कि एक दिन हम भी राजनीति में होंगे या अच्छे लोग भी राजनीति कर सकते हैं, तब मुझे अपनी पार्टी पर गर्व होता है.
अब बस ऐसी ही राजनीति की नींव गहरी करनी है और ऐसी ही अच्छी सोच का विस्तार करना है, और इसके लिए प्लुरल्स से बेहतर कोई प्लेटफ़ॉर्म नहीं क्योंकि यह सबके लिए है.

Get Today’s City News Updates

Image may contain: 1 person, sitting, shoes and indoor

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here