पटना/नई दिल्लीः बिहार विधानसभा चुनाव से पहले आरजेडी की मुश्किलें कम होती नहीं दिख रही है. आरजेडी से इस्तीफा दे चुके पूर्व केन्द्रीय मंत्री  डॉ. रघुवंश प्रसाद सिंह आरजेडी में वापस आने के मूड में नहीं है. वहीं, उनकी तबीयत भी ठीक नहीं है. दिल्ली के एम्स में उनका इलाज जारी है. हालांकि, इस दौरान भी रघुवंश प्रसाद मीडिया की सुर्खियां बने हुए हैं.

आरजेडी से इस्तीफा देने के बाद रघुवंश प्रसाद ने अपने लेटर पैड पर ‘संदर्भ’ शीर्षक से एक पत्र लिखा है. इस पत्र के जरिए रघुवंश प्रसाद का दर्द छलका है. वहीं, राजनीति में वंशवाद और परिवारवाद पर बड़ा हमला बोलते हुए लालू परिवार को कटघरे में खड़ा कर दिया है. इसके जरिये उन्होंने राजनीति की शुचिता की बात की है. इस पत्र के जरिए उनका सीधा निशाना लालू प्रसाद यादव के परिवारवाद पर आधारित राजनीति पर है. रघुवंश प्रसाद सिंह ने पत्र में कुछ यूं लिखा है.

वर्तमान में राजनीति में इतनी गिरावट आ गई है जिससे लोकतंत्र पर ख़तरा है. महात्मा गांधी बाबू जयप्रकाश, डॉ. लोहिया, बाबा साहेब और जननायक कर्पूरी ठाकुर के नाम और विचारधारा पर लाखों लोग लगे रहे, कठिनाईयां सहीं, लेकिन डगमग नहीं हुए, लेकिन अब समाजवाद की जगह सामंतवाद, जातिवाद, वंशवाद, परिवारवाद, संप्रदायवाद आ गया. यह सभी उतनी ही बुराईयां हैं जिसके खिलाफ समाजवाद का जन्म हुआ था. अब इन पांचों महान पुरुष की जगह एक ही परिवार के पांच लोगों की फोटो छपने लगी है. पद हो जाने से धन कमाना और धन कमाकर ज्यादा लाभ का पद खोजना. राजनीति की परिभाषा के अनुसार इन सभी बुराइयों से लड़ना है. राजद संगठन को मजबूत करने के उद्देश्य से ही पार्टी में संगठन और संघर्ष को मजबूत करने के लिए लिखा, लेकिन पढ़ने तक का कष्ट नहीं किया गया.

आरजेडी से इस्तीफा दे चुके हैं रघुवंश प्रसाद

पूर्व केंद्रीय मंत्री रघुवंश प्रसाद सिंह ने कुछ पार्टियां पर टिकटों की खरीद बिक्री करने का आरोप लगाया है जो लोकतंत्र के लिए खतरा है. उनका कहना है कि इसके जरिए कार्यकर्ताओं की हक मारी की जा रही है.  बता दें कि रघुवंश प्रसाद सिंह ने गुरुवार को आरजेडी से इस्तीफा दे दिया है. हालांकि, आरजेडी सुप्रीमों लालू प्रसाद यादव ने नामंजूर करते हुए पत्र लिखा है. लालू प्रसाद यादव ने पत्र के जरिए आरजेडी परिवार में रघुवंश प्रसाद के रहने की बात कही है.

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *