बिहार विधानसभा में मंगलवार को विपक्षी विधायकों के हंगामे और विधानसभा अध्यक्ष को चैंबर के अंदर कैद की स्थिति कायम करने के बाद जो हुआ जिससे बिहार शर्मसार है. विधायकों को जबरन पीटते हुए सदन से रैफ के जवान लाते दिखे जिससे सरकार की भद्द पीट रही है. कई विधायकों को चोटें भी आई है. इस दौरान महिला विधायकों के साथ भी बदसलूकी की गई. इस पर नेता प्रतिपक्ष से लेकर पूर्व सीएम भी गुस्से से लाल पीले हैं.

वहीं अब विपक्षी विधायकों की पिटाई मामले में कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने मुख्यमंत्री नीतीश कुमार पर जोरदार हमला किया है. राहुल गांधी ने कहा कि मुख्यमंत्री पूरी तरह आरएसएस बीजेपीमय हो चुके हैं. राहुल गांधी ने ट्वीट करते हुए लिखा है कि बिहार विधानसभा की शर्मनाक घटना से साफ़ है कि मुख्यमंत्री पूरी तरह आरएसएस भाजपामय हो चुके हैं. लोकतंत्र का चीरहरण करने वालों को सरकार कहलाने का कोई अधिकार नहीं है. विपक्ष फिर भी जनहित में आवाज़ उठाता रहेगा- हम नहीं डरते.

इससे पहले कल विपक्षी विधायक विधान सभा अध्‍यक्ष विजय कुमार सिन्‍हा के चैंबर रहने के दौरान ही चैंबर को घेरकर नारेबाजी करने लगे. सभी विपक्षी विधायक चैंबर से लगे तीनों गेट पर भारी संख्‍या में जमा होकर बैठ गए जिसमें आगे महिला विधायक रहीं. 4.30 बजे सदन की कार्यवाही शुरू कराने के लिए स्‍पीकर को चैंबर से निकलने नहीं दिया. दूसरे दरवाजे को विधायकों ने रस्सी से बांध दिया. जिसके बाद अध्यक्ष लौट कर चैंबर में चले गए. विधायक स्‍पीकर को उनके कमरे में बंधक बनाए रहे.

डीएम एसएसपी पहुंचे विधानसभा

हालात को देखते हुए विधान सभा में भारी संख्‍या में पुलिस बुलाई गई. साथ ही पटना के डीएम और एसएसपी एसपी भी पहुंचे. घेराव में एक बार डीएम भी घिर गए. समझाने से विधायक नहीं मानें तो बल प्रयोग कर उन्‍हें हटाया जाने लगा. इस दौरान विधानसभा में अध्य्क्ष के प्रवेश करने वाले गेट को भी बंद कर दिया. अध्यक्ष के चैंबर के बाहर हंगामा कर रहे विधायकों और पुलिस के बीच मारपीट शुरू हो गई और एक-एक कर विधायकों को जबर उठा-उठा कर बाहर फेका गया.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here