पर्यटन के दृष्टिकोण से और राजगीर की कनेक्टिविटी को देखते हुए राजगीर के लोगों को सरकार ने बड़ा तोहफा दिया है। CM नीतीश कुमार का ड्रीम प्रोजेक्ट राजगीर फोर लेन एलिवेटेड रोड को मंजूरी मिल गई है। भारत सरकार ने इस परियोजना को हरी झंडी दे दी है। अब राजगीर जाना आसान हो जाएगा।

साथ ही वहां के पर्यटन को भी इस प्रोजेक्ट से बढ़ावा मिलेगा। CM नीतीश कुमार द्वारा राजगीर में जाम की समस्या के निदान के लिए बाणगंगा से SDM ऑफ़िस तक चार लेन एलिवेटेड पथ बनाने का निदेश दिया था।

CM नीतीश कुमार ने दो बार इसके प्रस्ताव पर विचार करके सभी अधिकारियों के साथ स्थल भ्रमण कर करके मार्गरेखन क़ो अंतिम रूप दिया था। निर्देश के अनुपालन में पथ निर्माण विभाग द्वारा भेजे गये प्रस्ताव पर अब भारत सरकार की सहमति प्राप्त हो गयी है। इस परियोजना में 8.7 किमी लम्बाई के एलिवेटेड पथ में रोप वे के पास उतरने और चढ़ने के लिए रैम्प भी बनेगा। इसकी लागत लगभग 1300 करोड़ होगी।

भारत सरकार से मार्गरेखन अनुमोदन हो जाने पर अब निर्माण के पूर्व की गतिविधियाँ तेज हो जाएगी। इस परियोजना के लिए राज्य वाइल्ड लाइफ़ बोर्ड की सहमति मिल चुकी है। यह रोड गया, राजगीर, बिहारशरीफ़ राजमार्ग का हिस्सा होगा है। जिसका चार लेन चौड़ीड़ीकरण का काम चल रहा है। इसके बनने के बाद राजगीर में पर्यटकों के बढ़ने का अनुमान है। राजगीर में पहले से ही स्काई ग्लास ब्रिज, अभयारण्य, रोपवे, झील, जरासंध का अखाड़ा सहित कई दर्शनीय स्थल है। जहां देश-विदेश से लाखों पर्यटक राजगीर पहुंचते हैं।

Leave a comment

Cancel reply

Your email address will not be published.