पटनाः बिहार विधानसभा में विदायकों के साथ पुलिस की तरफ से हुई मारपीट की शर्मनाक घटना पर सरकार की किरकिरू हो रही है. हालांकि, इस मुद्दे पर सीएम नीतीश कुमार से लेकर उनके सभी मंत्री और विधायक लगातार बचाव कर रहे हैं. वहीं, विपक्ष के सदन में किये गए कारनामों की पोल सीसीटीवी फुटेज के आधार पर खोलने की बात कह रहे हैं.

वहीं, बिहार विधानसभा मारपीट और हंगामा मामले में सूबे के भूमि सुधार मंत्री रामसूरत राय का राजद कांग्रेस और महागठबंधन के अन्य दलों पर हमला बोला. मंत्री ने कहा कि सदन के अंदर क्या हुआ हर कोई जान रहा है. विधानसभा में उसका सीसीटीवी फुटेज है. इस मामले में सीसीटीवी फुजेट के आधार पर विधानसभा अध्यक्ष निष्पक्ष होकर कार्रवाई करें.

विधानसभा हो सकता था बहुत कुछ

वहीं नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी यादव का नाम लिया बिना ही कहा कि उन्हें बिना मेहनत के विरोधी दल के नेता का पद मिल गया है. कुछ लोग मलाई के लिए सता में आना चाहते है. वहीं, रामसूरत राय ने कहा कि जिस भाषा का इस्तेमाल तेजस्वी करते है यह कहीं से भी शोभनीय नहीं है. विधानसभा में हुई घटना को लेकर कहा कि अगर सत्ताधारी दल के विधायक उतेजित होते तो बहुत बड़ी दुर्घटना हो जाती लेकिन सभी विधायकों ने संयम से लिया काम. उन्होंने कहा कि मेरा मुंह खुला तो बड़ा बवंडर हो जाएगा.

पटना से विशाल भारद्वाज की रिपोर्ट

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here