पटना: बिहार विधानसभा चुनाव में एलजेपी ने जेडीयू को भारी नुकसान पहुंचाया है. जेडीयू इस बार मात्र 43 सीट पर सिमट गई. जेडीयू ने खुले तौर पर इस बात को स्वीकार किया है कि एलजेपी की वजह से कई सीटों पर नुकसान हुआ. चुनाव के बाद भी चिराग पासवान पर जेडीयू नेताओं का पारा गरम है.

Immediately Receive Kuwait Hindi News Updates

जेडीयू के नये नवेले राष्ट्रीय अध्यक्ष आरसीपी सिंह का एबीपी न्यूज बातचीत के दौरान चुनाव परिणाम को लेकर दर्द छलका. एलजेपी अध्यक्ष चिराग पासवान की तरफ इशारा करते हुए कहा कि उनकी पार्टी के कार्यकर्ता हर प्रकार से मदद किया, उसे स्थापित करने में सहायता किया लेकिन मौका मिलते ही छुरा भोंक कर धोखा दिया.

जेडीयू के खिलाफ खड़ा किया कैंडिडेट

आरसीपी सिंह ने चिराग पासवान पर निशाना साधते हुए कहा कि एलजेपी ने सिर्फ हमारे साथियों के खिलाफ उम्मीदवार खड़े किए. लेकिन उनको क्या मिला? महज कुछ प्रतिशत वोट जिससे कुछ नहीं होता है. लेकिन बिहार की राजनीति में लोग उनको इस बात के लिए याद रखेंगे कि एक ऐसे नेता के खिलाफ उन्होंने उम्मीदवार दिया जिसने बिहार के सभी वर्गों के लिए, समाज के लिए काम किया है.

चिराग पासवान
चिराग पासवान

ये भी पढ़ेंः नीतीश कुमार को आखिरकार आरजेडी ने दिया बड़ा ऑफर, बीजेपी नेताओं के उड़े होश!

आरसीपी सिंह ने कहा कि उनके नेता बिहार को विकसित बिहार बनाना चाहते है, वो (एलजेपी) उनके पैरों में जंजीर बंधना चाहते हैं. उन्होंने कहा कि मैं किसी एक व्यक्ति का नाम नहीं लूंगा लेकिन लोगों ने देखा होगा कि 2019 के लोकसभा चुनाव में पूरी ईमानदारी के साथ हमलोग ने साथ मिलकर काम किया था. 39 सीटों पर हमने सफलता हासिल की थी.

chiragnitish

रामविलास को किया मदद

एलजेपी अध्यक्ष चिराग पासवान पर निशाना साधते हुए आरसीपी सिंह ने कहा कि लोकसभा चुनाव 2019 में सभी 6 सीट पर सहयोगी को जीताने का काम किया. उस पार्टी के तत्कालीन राष्ट्रीय अध्यक्ष थे जो अब नहीं रहे उनको राज्यसभा भेजने के लिए भी हमारे नेता ने पूरा योगदान दिया. लेकिन उनका जो रवैया इस विधानसभा चुनाव में रहा उसके बारे में बस यही कहूंगा कि ये अच्छा नहीं हुआ.

Get Today’s City News Updates

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here