जयपुरः राजस्थान बीजेपी में बगाबत के सुर उठने लगा है. ग्रेटर नगर निगम  में  मेयर चुनाव को लेकर बीजेपी में खुलकर बगावत सामने आने लगी है. ग्रेटर नगर निगम में सौम्या गुर्जर को मेयर प्रत्याशी बनाया गया है इससे जयपुर शहर के विधायक नाराज हैं. बीजेपी के सीनियर एमएलए और पूर्व उपराष्ट्रपति भैरों सिंह शेखावत के दमाद नरपत सिंह राजवी ने संगठन के नेताओं के खिलाफ मोर्चा खोल दिया है.

बीजेपी एमएलए नरपत सिंह का कहना है कि संगठन सर्वोपरि होता है मगर पिछले कुछ दिनों से यहां पर मनमर्जी से फैसले लिए जा रहे हैं. उन्होंने आरोप लगाया कि किसी से कोई संवाद नहीं किया जा रहा है.  विधायकों से राय लिए बिना ही बाहरी को मेयर का प्रत्याशी बना दिया गया. बता दें कि सौम्या गुर्जर करौली के पूर्व सभापति राजाराम गुर्जर की पत्नी है जिनके खिलाफ 13 से ज्यादा आपराधिक मामले दर्ज हैं.

Immediately Receive Kuwait Hindi News Updates

विवाद में रह चुकी है सौम्या

गौरतलब है कि सौम्या गुर्जर ने एक बार महिला आयोग की सदस्य रहते हुए बलात्कार पीड़िता के साथ सेल्फी खींची थी. जिसको लेकर खूब छीछालेदर हुई थी. हालांकि, बाद में उन्होंने अपने पद से इस्तीफा दे दिया था. मेयर कैंडिडेट के लिए राजाराम गुर्जर की पत्नी सौम्या गुर्जर के नाम आने पर पार्टी में हर तरफ बवाल मचा हुआ है.

ये भी पढ़ेंः चुनाव खत्म होते ही खूनी खेल शुरू, जेडीयू नेता समेत दो की सरेआम गोली मारकर हत्या

विधानसभा में नेता प्रतिपक्ष गुलाबचंद कटारिया का कहना है कि संगठन का फैसला है और सब को मानना चाहिए. नरपत सिंह राजवी के सवाल उठाए जाने पर गुलाबचंद कटारिया ने तंज कसा है. उन्होंने कहा कि वह भी चित्तौड़गढ़ से लड़ते थे उनको भी जयपुर में लाकर विधायक बनाया गया था तब उन्हें आपत्ति नहीं हुई थी.

Get Today’s City News Updates

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here