बिहार के डीजीपी गुप्तेश्वर पांडे जारी अटकलों के बी आखिरकार मंगलवार को VRS (वॉलंटरी रिटायरमेंट) ले लिया. उनके इस फैसले के बाद सुशांत केस में रिया चक्रवर्ती के वकील सतीश मानेशिंदे ने अपनी प्रतिक्रिया दी है. उन्होंने ने बड़ा बयान देते हुए कहा है कि यह सुशांत के लिए नहीं बल्कि गुप्तेश्वर पांडेय के लिए न्याय की मांग थी.

सुशांत नहीं बल्कि गुप्तेश्वर पांडेय के लिए न्याय है

मानेशिंदे के स्टेटमेंट के मुताबिक, बिहार के डीजीपी गुप्तेश्वर पांडेय का VRS मांगना और बिहार सरकार और यूनियन गवर्नमेंट का 24 घंटे में VRS देना उतना ही तेज है जितना बिहार सरकार का रिया चक्रवर्ती की FIR CBI के ट्रांसफर करना और यूनियन गवर्नमेंट का इसको स्वीकार करना. यह सुशांत सिंह राजपूत के लिए न्याय नहीं बल्कि गुप्तेश्वर पांडेय के लिए न्याय है.

पूर्व डीजीपी गुप्तेश्वर पांडे
       पूर्व डीजीपी गुप्तेश्वर पांडे (फाइल फोटो)

बक्सर से चुनाव लड़ सकते हैं गुप्तेश्वर पांडेय

बता दें कि सुशांत के पिता ने राजधानी पटना में एफआईआर दर्ज करवाई थी जिसके बाद बिहार के डीजीपी इस जांच को लेकर सुर्खियों में रहे. उन्होंने ये तक कहा कि सुशांत को न्याय दिलाने के लिए उनकी नौकरी भी चली जाए तो वह पीछे नहीं हटेंगे. NCB ने रिया चक्रवर्ती को गिरफ्तार किया तो उन्होंने इसकी काफी तारीफ भी की थी. रिपोर्ट्स की मानें तो गुप्तेश्वर पांडेय आने वाले बिहार चुनाव में हिस्सा लेने वाले हैं.

सुशांत केस में एक्टिव रहे डीजीपी

बता दें कि गुप्तेश्वर पांडे 1987 बैच के आईपीएस अधिकारी हैं. फिल्म अभिनेता सुशांत सिंह राजपूत मौत मामले में बिहार में मामला दर्ज होने के बाद लगातार जांच को लेकर सक्रिय थे. खासकार, डीजीपी गुप्तेश्वर पांडेय ने मुंबई पुलिस की जांच पर कई सवाल खड़े किए थे. महाराष्ट्र सरकार और मुंबई पुलिस द्वारा बिहार के पुलिस अधिकारी एवं जांच टीम के साथ किए गए दुर्व्यवहार से काफी नाराज भी थे. बताया जा रहा है कि पांडे एनडीए के टिकट पर बक्सर से चुनाव लड़ सकते हैं.
Get Daily City News Updates

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *