दोस्तों आपको यह जानकर हैरानी होगी कि भारत में एक ऐसी नदी भी है जहां पानी के साथ सोना भी निकलता है आज हम आपको उसी नदी के बारे में बताने जा रहे हैं.झारखंड में एक जगह है रत्नगर्भा। यहीं पर स्वर्ण रेखा नाम की नदी बहती है। इस नदी की रेत से सालों से सोना निकाला जा रहा है।

नदी की लंबाई 474 किमी. है। स्वर्ण रेखा की सहायक नदी करकरी है.झारखंड में तमाड़ और सारंडा जैसी जगहों पर नदी के पानी में स्थानीय आदिवासी, रेत को छानकर सोने के कण इकट्ठा करने का काम करते हैं। एक व्यक्ति महीने में 60-80 सोने के कण निकाल पाता है।

सोना उगलने के वजह से यह नदी आदिवासियों के लिए आय का स्त्रोत भी है। यहां के सथानीय निवासी सुबह से शाम तक रेत को छानकर सोने से अलग करते दिखाई देते हैं। वैज्ञानिक आज तक इस बात का पता नहीं लगा पाए हैं कि इस नदी में सोना कहां से आता है।

स्वर्ण रेखा नदी रांची से 16 किलोमीटर दक्षिण-पश्चिम में स्थित नगड़ी गांव में रानी चुआं नाम की जगह से निकलती है.नदी  झारखंड, पश्चिम बंगाल और ओडिशा के कुछ इलाकों में बहती है। कहीं-कही इसे सुबर्ण रेखा के नाम से भी पुकारते हैं।

Leave a comment

Your email address will not be published.