पटनाः बिहार विधानसभा चुनाव में आरजेडी का प्रदर्शन 2015 चुनाव के मुकाबले कमजोर रहा. भले ही आरजेडी बिहार में सबसे बड़ी पार्टी बनकर उभरी है लेकिन सत्ता में आने से चंद कदम दूर रह गई. आरजेडी अलग-अलग विधानसभा क्षेत्र में पार्टी विरोधी काम करने वाले नेताओं को अब बाहर का रास्ता दिखा रही है.

Immediately Receive Kuwait Hindi News Updates

हार के बाद लालू यादव की पार्टी आरजेडी का नेतृत्व एक्शन में है. पार्टी विरोधी काम करने के आरोप में तीन नेताओं को निलंबित कर दिया गया है. इन नेताओं पर पार्टी के अधिकारिक उम्मीदवार को हराने का आरोप था. सभी नेताओं को छह साल के लिए पार्टी से निकाला है.

पूर्व कैंडिडेट के फिडबैक पर कार्रवाई

जानकारी के मुताबिक पार्टी विरोधी गतिविधियों में शामिल रहने वाले हरसिद्धि विधानसभा के तीन कार्यकर्ताओं को पार्टी से 6 साल के लिए निष्कासित कर दिया है. यह कार्रवाई विधानसभा प्रत्याशी की तरफ से दी गई फीडबैक के आधार की गई है.

ये भी पढ़ेंः दुकान में घुस कर ताबड़तोड़ फायरिंग, दुकानदार ग्राहक समेत सभी घायल पटना रेफर

6 साल के लिए सस्पेंड

आरजडी प्रदेश अध्यक्ष जगदानन्द सिह के निर्देश पर हरसिद्धि विधानसभा के पूर्व राजद विधायक प्रत्याशी कुमार नागेन्द्र बिहारी की अनुशंसा पर हरसिद्धि प्रखंड अध्यक्ष मोहन लाल सहनी, राजद युवा प्रखंड अध्यक्ष संजय यादव व तुरकौलिया प्रखंड अध्यक्ष राजदेव यादव को पार्टी के पद एवं प्राथमिक सदस्यता से 6 साल के लिए निलंबित कर दिया है.

Get Today’s City News Updates

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here