नालंदा: बिहार विधानसभा चुनाव के तारीखों की घोषणा हो चुकी है. लेकिन अपनी-अपनी उम्मीदवारी को लेकर घमासान मचा हुआ है. वहीं, बिहारशरीफ विधानसभा में उम्मीदवारी को लेकर आरजेडी में भी अंतरकलह की बात सामने आ रही है.

वहीं, राष्ट्रीय जनता दल के राष्ट्रीय परिषद सदस्य मनीष यादव ने कहा कि लोकसभा चुनाव में भी महागठबंधन से ऐसे व्यक्ति को टिकट दिया गया था, जिसे लोग पहचानते भी नहीं थे और वह राजनीति से भी काफी दूर थे. इसका खामियाजा लोकसभा में महागठबंधन को भुगतना पड़ा और भारी मतों से हार का सामना करना पड़ा था.

बाहरी कैंडिडेट कर रहे दावेदारी

साथ ही उन्होंने कहा कि अब यही रवैया विधानसभा चुनाव में भी देखने को मिल रहा है. ऐसे उम्मीदवार को रातोरात पार्टी की सदस्यता दिलाई गई, जो अन्य दल में शामिल थे, जिनका ना कोई राजनीतिक सरोकार है और न सामाजिक सरोकार रहा है. ऐसे व्यक्ति को रातोरात पार्टी की सदस्यता दिलाकर टिकट के लिए दावेदारी भी पेश की गई.

ये भी पढ़ेंः नीतीश पर एलजेपी के हमले से तिलमिलाई जेडीयू ने चिराग पासवान को दे डाली नसीहत, कहा-काजल की…

तेजस्वी यादव से करेंगे मुलाकात

मनीष यादव ने कहा कि पार्टी के इस रवैये से बिहारशरीफ विधानसभा के आरजेडी कार्यकर्ताओं का मनोबल काफी टूट गया है और उनके मान-सम्मान को भी ठेंस पहुंचा है. जिसके चलते कई कार्यकर्ता आक्रोश में दिख रहे हैं. उन्होंने कहा कि इसीलिए हम सभी कार्यकर्ताओं ने यह तय किया है कि हम लोग आरजेडी नेता तेजस्वी यादव से मुलाकात करेंगे. उन्होंने कहा कि अगर हम लोगों को बिहारशरीफ विधानसभा से इस बार मौका नहीं मिलता है, तो हम लोग किस दिन के लिए राजनीति करने का काम करेंगे.

Get Daily City News Updates

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *