लॉकडाउन में शादी ने उजाड़ दिया पूरा परिवार, एक-एक कर घर से उठी चार अर्थियां, कांधा देने वाला भी नहीं रहा कोई

0
7

दरभंगाः कोरोना का कहर पूरे देश में जारी है. इससे हर तरफ कोहराम मचा है और इससे बिहार भी अछूता नहीं है. सरकार की अपील के बाद भी लोग शादी समारोह आयोजित करने से बाज नहीं आ रहे जिसका खामियाजा दरभंगा के एक परिवार को उठाना पड़ा है. शादी समारोह के 15 दिनों के भीतर एक परिवार में ऐसा कोरोना बम फूटा कि अब तक चार लोगों की मौत हो चुकी है.

अभी भी यह परिवार के लोग इस महामारी की चपेट में हैं और संक्रमित हैं. शहर के चौधरी परिवार ने शादी में भीड़ इकट्ठा कर रस्म रिवाज के नाम पर रिश्तेदारों को बुलाया जो अब भारी पड़ रहा है. शादी समारोह तो हंसी ख़ुशी कुछ ही दिनों बाद गम में तब्दील हो गया. इसी शादी में भीड़ के कारण महज पंद्रह दिन के अंदर चार लोगों की मौत हो चुकी है.

शादी में थी ज्यादा भीड़

हालत यह है की परिवार में अब मृतक के शव को कंधा देने वाले चार लोग तक नहीं मिल रहे हैं. यही वजह है कि एक बूढ़े सदस्य के साथ इनके परिवार के शव का कबीर सेवा संस्था के लोगों ने मिलकर अंतिम संस्कार किया. मिर्जापुर मुहल्ले में 16 अप्रैल को एक शादी हुई थी. चौधरी परिवार की इस शादी में न सिर्फ जरुरत से ज्यादा भीड़ था बल्कि शादी में शामिल होने के लिए दूसरे जिले से भी कई रिश्तेदारों को बुलाया गया था.

ये भी पढ़ेः शादी के दिन ही कोरोना से दूल्हे की मौत, रो-रोकर बार-बार बेहोश हो रही दुल्हन

कहा जा रहा है कि इसी भीड़ में कोरोना संक्रमण फैला और एक के बाद एक परिवार के कई लोग संक्रमित हो गए. श्मशान पहुंचे परिवार के एक बुजुर्ग विपिन विहारी चौधरी ने बताया कि सबसे पहले भतीजे की मौत कोरोना की वजह से हुई. 10 दिन बाद ही रविशंकर चौधरी की मौत हो गई. अब पांच दिन पहले ही परिवार में एक और मौत हो गई. फिर उनके ससुर की भी कोरोना से मौत हो गई.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here