बिहार विधानसभा चुनाव के बीच बिहार का सबसे बड़ा बाहुबली नेता और आरजेडी के पूर्व सांसद मोहम्मद शहाबुद्दीन सिवान लौटने वाले हैं.  शहाबुद्दीन तिहाड़ जेल से सिवान जिले के प्रतापपुर गांव स्थित अपने घर लौट सकते हैं. इस बात का खुलासा उनकी पत्नी हिना शहाब ने एनबीटी के साथ खास बातचीत के दौरान किया है. हिना शहाब ने बताया कि मोहम्मद शहाबुद्दीन पैरोल पर जेल से बाहर आ सकते हैं.

Immediately Receive Kuwait Hindi News Updates

हिना ने बताया कि उन्हें कोर्ट से उम्मीद है, वे जेल से बाहर आएंगे. 3 नवंबर को पैरोल पर सुनवाई की तारीख है.  जेल मैनुअल के मुताबिक पैरोल की प्रक्रिया को शहाबुद्दीन पूरी करते हैं.

आठ बातों पर पैरोल मिलती है, जिसमें मां-पिता की मौत हो, या बीमारी गंभीर हो, या पत्नी, भाई और बच्चों की भी मौत या गंभीर बीमारी होती है तो पैरोल हर कैदी का अधिकार है. खुशी में भी पैरोल मिलती है. यह अधिकार सजायाफ्ता और बिना सजायाफ्ता दोनों तरह के कैदी को मिलती है. बता दें कि हाल ही में मोहम्मद शहाबुद्दीन के पिता का निधन हुआ है.

ये भी पढ़ेंः सुशांत की बहनों को सताने लगा गिरफ्तारी का डर, रिया की FIR के खिलाफ उठाया बड़ा कदम

बता दें कि साल 2016 में शहाबुद्दीन को 14 साल बाद हाईकोर्ट से बेल मिलने पर घर वापसी हुई थी. उस वक्त उनकी रिहाई पर सभी लोग उसमें शामिल हुए थे, जिससे लंबा काफिला हो गया था. हालांकि, इस बार हालात कुछ और है. इस बार परिवार परेशानियों से गुजर रहा है.
एक ही साल में 3-3 हादसे हो गए. इसके बाद भी पैरोल नहीं मिला.  लेकिन इस बार उम्मीद है कि पिता के 40वां फातिया के नाम पर पैरोल मिल जाए. गौरतलब है कि फातिया 27 अक्टूबर को होना था लेकिन घर में कोई गार्जियन नहीं होने के चलते इसे आगे बढ़ाया गया है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here