नक्सली हमले में शहीद 22 सीआरपीएफ जवानों के बारे में फेमस लेखिका ने लिखा आपत्तिजनक फेसबुक पोस्ट, हुई अरेस्ट

0
10

छत्तीसगढ़ के नक्सली हमले में 22 सीआरपीएफ जवान शहीद हो गए. इसके बाद सोशल मीडिया पर कथित पोस्ट लिखने के आरोप में गुवाहाटी पुलिस ने असम की एक जानी मानी लेखिका को देशद्रोह के आरोप में गिरफ्तार किया गया है. उनके खिलाफ कई अन्य आरोप भी लगाए गए हैं.

आरोपी लेखिका की पहचान शिखा शर्मा के रूप में हुई है. उसे पुलिस ने मंगलवार को आईपीसी की धारा 124 ए (देशद्रोह) सहित विभिन्न धाराओं के तहत गिरफ्तार कर लिया. 48 वर्षीय लेखिका को पुलिस ने उमी डेका बरुआ और कंगना गोस्वामी द्वारा दर्ज कराई गई एक प्राथमिकी के आधार पर गिरफ्तार किया है. इससे पहले पुलिस ने शिखा को बुलाया और गहन पूछताछ के बाद गिरफ्तार कर लिया.

गुवाहाटी में दर्ज हुआ केस

जानकारी के मुताबिक गुवाहटी के दिसपुर पुलिस स्टेशन में इस संबंध में मुकदमा अपराध संख्या 1281/2021 दर्ज किया गया है. जिसमें आईपीसी की धाराएं 294 (क), 124 (ए), 500, 506 और आईटी अधिनियम की आर/डब्ल्यू धारा 45 भी शामिल की गई है.

मीडिया को लगाई थी क्लास

खबरों के मुताबिक, सोमवार शिखा सरमा ने कथित तौर पर अपने फेसबुक अकाउंट पर लिखा था कि “ड्यूटी के दौरान मरने वाले वेतनभोगी पेशेवरों को शहीद नहीं कहा जा सकता है. इस तर्क के आधार पर बिजली विभाग के वो कर्मचारी जो इलेक्ट्रोक्यूशन से मरते हैं, उन्हें भी शहीद होना चाहिए. मीडिया, लोगों को भावुक न करे.”

ये भी पढ़ेंः कुंभ ड्यूटी में तैनात जवान का शव ताबूत की जगह बिस्तर बंद में भेजा घर, सड़ी-गली अवस्था में…

गुवाहाटी के पुलिस कमिश्नर मुन्ना प्रसाद गुप्ता ने कहा, ‘शर्मा के खिलाफ भारतीय दंड संहिता की धारा 124-ए (देशद्रोह) सहित विभिन्न धाराओं में केस दर्ज हुआ है. शर्मा को कल कोर्ट में पेश किया जाएगा.’ लेखिका सोशल मीडिया पर काफी मुखर हैं.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here