राजस्थान के सीमावर्ती जिले गंगानगर में एक दर्दनाक घटना हो गई. सेना के एक जिप्सी वाहन में आग लगने से तीन जवानों की जिंदा जलने से मौत हो गई. जबकि इसमें सवार पांच अन्य जवान बुरी तरह झुलस गए हैं. घटनास्थल पर तीन शव सड़क पर पड़े थे. घटनास्थल पर पहुंचे पुलिस कर्मियों और ग्रामीणों का दिल भर आया. शव को उठाते वक्त रूह कांप गई।

यह हादसा श्रीगंगानगर जिले के राजियासर के पास हुआ. पूरा इलाका भारत-पाकिस्तान सीमा से सटा है. मृतकों में एक सूबेदार और दो जवान शामिल हैं. यह स्पष्ट नहीं हो पाया है कि हादसा कैसे हुआ. मृत जवानों में एक यूपी के अजीत शुक्ला बताए गए हैं, जबकि दो अन्य आंधप्रदेश के सूबेदार ऐवेनेजर हमाडाला और पश्चिम बंगाल के देवकुमार (36) शामिल हैं.

हरियाणा से लौट रहे शख्स बताई घटना

सेना की जिप्सी होने की वजह से माना जा रहा है कि उसमें युद्धाभ्यास की विस्फोटक सामग्री रखी होगी और हादसे की वजह से उसमें धमाका हो गया. आग इतनी तेजी से फैली की जवान वाहन से बाहर नहीं निकल सके. वहीं, राजियासर गांव के एक व्यक्ति ने बताया कि हादसे के कुछ देर बाद वह मौके पर पहुंचे थे. वह हरियाणा से लौट रहे थे.

लोगों ने सेना के जवानों की मदद से मुंह मोड़ा 

प्रत्यक्षदर्शी ने बताया कि राजियासर गांव के मुख्य मार्ग पर दो-तीन जवान चिल्ला रहे थे. वहां से गुजर रहे वाहनों को रोकने की कोशिश कर रहे थे लेकिन कोई नहीं रुक रहा था. जवानों को देखकर मैंने गाड़ी रोकी तो एक जवान ने कहा-मदद करिए, हमारे कुछ जवान जल गए हैं. मैं अपने दोस्त के साथ तुरंत गाड़ी से उतरा और वहां दौड़ पड़ा जहां से जवानों के चीखने की आवाज आ रही थी.

जिप्सी में फंसे थे जवान 

सेना के जवानों को मदद करने वाले शख्स ने कहा कि पास जाकर देखा तो जिप्सी जल रही थी और दो जवान उसमें फंसे जवानों को बाहर निकालने की कोशिश कर रहे थे. जैसे-तैसे एक साथी को खींचा लेकिन उसका आधा शरीर ही हाथ आया. एक जवान का शरीर बुरी तरह से जल चुका था जबकि जले हुए दो शव अन्य शव पहले से जिप्सी से कुछ दूरी पर पड़े थे.

चादर में इकट्ठा करना पड़ा जले हुए अंग

वहीं, घटना की सूचना मिलते ही राजियासर थाने की पुलिस मौके पर पहुंची. पुलिस कर्मियों और ग्रामीणों ने बमुश्किल   शवों के अंगों को इकट्ठा किया और एंबुलेंस से अस्पताल भेजवाया. पुलिस इस घटना की जांच कर रही है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here