नाबालिग बच्ची का धर्म परिवर्तन करवा कर हो रहा था निकाह, पुलिस के साथ पहुंची महिला आयोग अध्यक्ष ने इस तरह बचाया

0
7

नई दिल्लीः देश में बाल विवाह पर प्रतिबंध लगाने के बावजूद लोग मानने को तैयार नहीं हैं. दिल्ली के जहांगीरपुरी में ही ऐसा मामला सामने आया है जहां 15 साल की एक बच्ची की शादी हो रही थी. हालांकि, दिल्ली महिला आयोग की सक्रियता के चलते बचा लिया गया. खास बात यह है कि बच्ची का धर्म परिवर्तन करके निकाह करवाया जा रहा था.

इसी दौरान मौके पर ही दिल्ली महिला आयोग की अध्यक्ष स्वाति मालीवाल पहुंच गईं. उन्होंने तुरंत इस गैरकानूनी विवाह को रुकवा दिया. दुल्हन की उम्र मात्र 15 साल की है जबकि विवाह से संबंधित भारतीय कानूनों के अनुसार 18 से कम उम्र की लड़की और 21 साल से कम उम्र के लड़के का विवाह कानूनन जुर्म है.

15 साल की है लड़की

दिल्ली महिला आयोग की अध्यक्ष स्वाति मालीवाल ने भी ट्वीट करते हुए कहा है कि ‘जहांगीरपुरी में एक 15 साल की बेटी का धर्म परिवर्तन कर निकाह कराया जा रहा था, अभी मैंने और मेरी टीम ने इलाके के SHO के साथ मिलकर ये निकाह रुकवाया है. बहुत दुखद है कि देश से बाल विवाह खत्म होने का नाम नही ले रहा है. बच्चों से उनका बचपन छीनने वालों को सख्त सजा होना जरूरी है.’

बता दें कि इससे पहले दिल्ली महिला आयोग की टीम ने कल्याणपुरी में रहने वाली एक नाबालिग लड़की की शादी भी रुकवाई थी. जिसकी उम्र महज 16 साल थी.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here