कैमूर में गहमागहमी के बीच नामांकन में उड़ रही सोशल डिस्टेंसिंग की धज्जियां, अब तक इतने लोगों भरा पर्चा

0
12
सोशल डिस्टेंसिंग की उड़ी धज्जियां
सोशल डिस्टेंसिंग की उड़ी धज्जियां

कैमूर: जिले में विधानसभा चुनाव को लेकर नामांकन की प्रकिया शुरू हो गई है. बता दें कि जिले के सभी चार विधानसभा में 1 अक्टूबर से लेकर 8 अक्टूबर तक नामांकन होगा. वहीं, 28 अक्टूबर को मतदान होना है.

इसी सिलसिले में सोमवार को चैनपुर विधानसभा क्षेत्र से बसपा प्रत्याशी जमा खान ने अपना नामांकन पर्चा भरा. साथ ही रामगढ़ विधानसभा क्षेत्र से बसपा के प्रत्याशी अंबिका सिंह यादव ने और निर्दलीय सुधाकर तिवारी ने नामांकन पर्चा दाखिल किया. इस दौरान सोशल डिस्टेंसिंग की लोगों ने धज्जियां उड़ा दी.

Immediately Receive Daily CG Newspaper Updates

सोशल डिस्टेंसिंग का नहीं हुआ पालन
बता दें कि जिले में कुल 3 लोगों ने नामांकन पर्चा दाखिल किया. हालांकि इस दौरान सोशल डिस्टेंसिंग की जमकर धज्जियां उड़ाई गई. रामगढ़ विधानसभा क्षेत्र से मोहनिया में बसपा

प्रत्याशी अंबिका यादव के नामांकन दाखिल करने के बाद जमकर नारेबाजी भी की गई. प्रत्याशियों को न तो आचार संहिता के नियमों का पालन करते हुए देखा गया और न ही सोशल डिस्टेंसिंग का ही पालन हुआ.

आरजेडी पर जमकर साधा निशाना

रामगढ़ के बसपा प्रत्याशी अंबिका यादव ने कहा कि मैं पहले आरजेडी से रामगढ़ विधानसभा क्षेत्र का विधायक रहा हूं. लेकिन आरजेडी ने जब मुझे टिकट नहीं दिया तो बहन मायावती जी ने मुझे बसपा से टिकट देने का काम किया है.

महागठबंधन में दलित और पिछड़ों को कभी भी सम्मान नहीं मिलता है. आप देख सकते हैं एनडीए छोड़कर श्याम रजक जी आए थे विधायक थे, मंत्री भी थे, लेकिन उनका टिकट महागठबंधन ने काट दिया. आप इससे अंदाजा लगा सकते हैं कि महागठबंधन में दलितों शोषितों को कितना सम्मान दिया जाता है.

ये भी पढ़ें.करोड़ों बिहारियों के जीवन मरण का प्रश्न है, जेडीयू के प्रत्याशी को दिया गया एक भी वोट..

विकास के मुद्दे पर लड़ रहे चुनाव
वहीं, चैनपुर के बसपा प्रत्याशी जमा खान ने कहा कि हम विकास के मुद्दे पर चुनाव लड़ रहे हैं. एनडीए के गवर्नमेंट ने कोई विकास हमारे क्षेत्र में नहीं किया है. हमारे यहां जंगली इलाका है,

यहां का जो भी महुआ पियार और तेंदू पत्ता है उस पर सेंचुरी लगाकर रोक लगा दिया गया है. अगर मैं जीता तो जंगली लोगों के लिए इन सभी से रोक हटाऊंगा और किसानों के लिए नहर की बहुत ज्यादा समस्या है. ऐसे में सिंचाई के लिए नहर का व्यवस्था भी कराऊंगा.

Get Daily City News Updates

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here