पटनाः बिहार में कोरोना के मामले तेजी से बढ़ रहे हैं इसे देखते हुए बिहार सरकार अलर्ट मोड पर आ गई है. इस बीच सोशल मीडिया में एक पत्र आज तेजी से फैल रहा है. फर्जी पत्र बिहार शिक्षा परियोजना परिषद के नाम से वायरल हो रहा है. पत्र में बताया गया है कि विभाग के आदेश के मुताबिक राज्य के सभी और गैर सरकारी स्कूल को 15 जून तक बंद करने का निर्देश दिया गया है.

वहीं, पत्र में आगे कहा गया है कि राज्य के सभी सरकारी, गैर सरकारी, सार्वजनिक स्वास्थ्य और सार्वजनिक हित में 15 अप्रैल 2021 तक बंद रहेंगे. दूसरा यह है कि ऑनलाइन शिक्षण गतिविधियां विभाग के अनुसार जारी रह सकती है. तीसरा कार्यालय आदेश के अनुसार विशेष अभियान 25 मार्च तक विस्तारित रूप में चलेगी. परियोजना निदेशक संजय कुमार सिंह का सिग्नेचर भी दिखाया गया और इसे 19 मार्च 21 को जारी किया गया है.

             सोशल मीडिया में वायरल हो रहा फर्जी पत्र

प्रधान सचिव ने बताया फर्जी

हालांकि यह पत्र पूरी तरीके से फर्जी है इसकी पुष्टि खुद शिक्षा विभाग के प्रधान सचिव संजय सिंह ने की है. उन्होंने मीडिया से बात करते हुए कहा कि यह सरासर फर्जी है. उन्होंने कहा कि अगर इस तरह की बात रहती तो पत्र विभाग की तरफ से निकाला जाता.

साइबर सेल में होगा मामला दर्ज

उन्होंने बताया कि परियोजना निदेशक के निदेशक से उनकी बात हुई है. निदेशक ने बताया कि कि यह पत्र पूरी तरीके से फर्जी है जो किसी ने शरारत के रूप में सोशल मीडिया में डाला है. इसमें कोई तथ्य नहीं है बिहार शिक्षा बिहार शिक्षा परियोजना को निर्देश दिया गया है कि इसकी शाखा शिकायत साइबर सेल में करें ताकि आगे के लिए सोशल मीडिया पर इस तरह की अफवाह न फैला सके.

ये भी पढ़ेंः बिहार में कोरोना के मामले में अचानक आयी उछाल ने बढ़ाई सरकार की चिंता, स्वास्थ्य मंत्री मंगल पांडे ने दिया बड़ा बयान

बता दें कि होली में दूसरे राज्यों से आने वाले लोगों को देखते हुए कोरोना के केस बढ़ने की संभावना जताई जा रही है. इससे निपटने के लिए रेलवे स्टेशन और एयरपोर्ट पर विशेष रूप से कोरोना टेस्ट की सुविधा रहेगी. हालांकि जो लोग प्रभावित राज्यों से आने के बावजूद कोरोना टेस्टिंग का रिपोर्ट लेकर नहीं वायरस ने करके आएंगे उन्हें टेस्ट करवाना होगा और रिपोर्ट लाने वाले को सीधे घर जाने दिया जाएगा.

पटना से विशाल भारद्वाज की रिपोर्ट

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here