लॉकडाउन के बीच विभिन्न प्रदेशों के कोचिंग स्टूडेंट्स की रवानगी के बीच बिहार के बच्चों के लिए भी राहत की खबर है. कोटा से बिहार के लिए 3 से 6 मई तक स्पेशल ट्रेन चलाई जाने वाली है. जिला कलेक्टर ओम कसेरा के मुताबिक कोचिंंग स्टूडेंट्स को घर वापस भेजने के लगातार प्रयास हो रहे हैं. कई राज्यों में बसों के जरिए हजारों स्टूडेंट्स को भिजवाया गया है. झारखंड के छात्रों के लिए 1 व 2 मई को ट्रेनें चलीं. इसके बाद अब बिहार के वैसे छात्रों के लिए 3 से 6 मई तक स्पेशल ट्रेन चलेगी, जो कोटा में रहते हैं. कोटा में बिहार के करीब 10 से 12 हजार विद्यार्थी हैं. डीएम ने बताया कि बच्चों को मैसेज भेज दिए गए हैं. प्रशासन शेड्यूल तैयार कर रहा है, ताकि इन चार दिनों में बिहार के सभी बच्चों को सुरक्षित भेजा जा सके.

कोटा से स्टूडेंट्स को सोशल डिस्टेंसिंग के नियम पालन के साथ भेजा जा रहा है. बसों में जहां 25 से 30 बच्चों को भेजा गया. वहीं बिहार के लिए जाने वाली ट्रेनों में नियम का पालन होगा. ट्रेन के एक कोच में 72 लोगों के बैठने की जगह होती है, लेकिन एक कोच में सिर्फ 54 बच्चों को ही बैठाया जाएगा. डीएम ने बताया कि झारखंड भेजी गई ट्रेन में भी इस नियम का पालन किया गया था. स्टेशन पर ट्रेनों की रवानगी से पहले बच्चों का मेडिकल चेकअप होगा. इस दौरान सुरक्षा के लिए सुरक्षाबल के जवान तैनात रहेंगे.


कोटा में कोरोना पॉजिटिव मरीजों की तादाद बढ़ती जा रही है. शनिवार को आरकेपुरम निवासी एक महिला की रिपोर्ट कोरोना पॉजिटिव आने के साथ ही शहर में ऐसे मरीजों की संख्या बढ़कर 205 हो गई है. महिला के कोरोना पॉजिटिव पाए जाने के बाद प्रशासन और स्वास्थ्य विभाग ने पीड़ित को मेडिकल कॉलेज में भर्ती कराया. वहीं उसके परिवार के अन्य 5 सदस्यों की भी जांच कराई जा रही है.

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *