पटना: सुशांत सिंह राजपूत के चचेरे भाई और बीजेपी विधायक नीरज कुमार सिंह ने अपने ही मंत्री के खिलाफ मोर्चा खोल दिया है. स्वतंत्रता सेनानी बाबू वीर कुंवर सिंह के ऊपर विवादित बयान को लेकर शीला मंडल पर जमकर निशाना साधा है. फेसबुक पोस्ट लिखकर नीरज कुमार बबलू ने अपनी नाराजगी जाहिर की है.

उन्होंने कहा कि बिहार सरकार में मंत्री श्रीमती शीला मंडल जी का जो विवादित बयान आया है, वह बहुत ही दुर्भाग्यपूर्ण है यह बयान समाज को तोड़ने वाला बयान है. बाबू वीर कुंवर सिंह सन 1857 के प्रथम भारतीय स्वतंत्रता संग्राम के सिपाही और महानायक थे  अन्याय विरोधी व स्वतंत्रता प्रेमी बाबू कुंवर सिंह कुशल सेना नायक थे  इनको 80 वर्ष की उम्र में भी लड़ने तथा विजय हासिल करने के लिए जाना जाता है. इन्होंने 23 अप्रैल 1858 में, जगदीशपुर के पास अंतिम लड़ाई लड़ी.

बाबू वीर कुंवर सिंह ने वीरगति पाई थी

ईस्ट इंडिया कंपनी के भाड़े के सैनिकों को इन्होंने पूरी तरह खदेड़ दिया. उस दिन बुरी तरह घायल होने पर भी इस बहादुर ने जगदीशपुर किले से गोरे पिस्सुओं का “यूनियन जैक” नाम का झंडा उतार कर ही दम लिया. वहाँ से अपने किले में लौटने के बाद 26 अप्रैल 1858 को इन्होंने वीरगति पाई.

जाति नहीं देश के गौरव हैं कुंवर सिंह
बाबू वीर कुंवर सिंह किसी खास जाति समुदाय के नहीं बल्कि वह पूरे भारत के गौरव हैं. एनडीए सरकार सभी जाति धर्म को लेकर चलने वाली सरकार है. माननीय मुख्यमंत्री जी बाबू वीर कुंवर सिंह का सम्मान करते हैं और शीला मंडल जी का ओछी बयान बहुत ही शर्मनाक है, उन्हें तुरंत से तुरंत माफी मांगनी चाहिए.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here