नेता प्रतिपक्ष पर बड़ा खुलासा, तेजस्वी यादव ने अपने पिता लालू यादव को शौचालय में बंद कर दिया था बंद

0
6

पटनाः बिहार विधानसभा में विधायकों के साथ मारपीट की घटना के बाद सियासत तेज हो गई है. सीएम नीतीश कुमार पर नेता प्रतिपक्ष के निजी टिप्पणी पर जनता दल यूनाइटेड के विधान पार्षद उपेंद्र कुशवाहा ने उनकी ही भाषा में जवाब दिया है. तेजस्‍वी के अमर्यादित बोल पर कुशवाहा ने चेतावनी भरे लहजे में जुबान पर लगाम लगाने की नसीहत दी है.

उपेंद्र कुशवाहा ने बड़ा खुलासा करते हुए कहा है कि तेजस्‍वी ने एक बार अपने पिता लालू यादव को शौचालय में बंद कर दिया था. ऐसे लोगों से क्‍या उम्‍मीद की जाए. कुशवाहा ने कहा है कि नेता प्रतिपक्ष तेजस्‍वी यादव अपने पिता की उम्र के समतुल्य मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के प्रति जिन शब्दों का प्रयोग कर रहे हैं, वे बर्दाश्‍त के बाहर हैं.

ललूआ कहने वालो को मुंहतोड़ जवाब

तेजस्वी पर पलटवार करते हुए उपेंद्र कुशवाहा ने कहा कि वो लगभग आजीवन लालू के विरोध की ही राजनीति की है, लेकिन उनको ‘ललूआ’ कहने वालों को मुंहतोड़ जबाव भी देते रहे हैं. ”तुमको भी मेरी सलाह है कि अपनी कब्र मत खोदो. जुबान पर लगाम रखो क्‍यों नौंवी फेल कहने वालों को खुद ही और मौका देते हो?”

पिता की भी बात नहीं सुनते तेजस्वी

उपेंद्र कुशवाहा ने एक न्यूज चैनल से बातचीत में कहा कि आज अगर लालू जेल से बाहर होते तो वे बेटों को समझाने की कोशिश करते, लेकिन बेटे उनकी बात कितनी मानते कह नहीं सकते हैं. शायद बेटों से अपमानित होने से बेहतर वे चुप रहना ही समझते. पूर्व केंद्रीय मंत्री ने बड़ा खुलासा करते हुए कहा कि तेजस्‍वी ने तो एक बार लालू प्रसाद यादव को शौचालय में बंद कर दिया था.

ये भी पढ़ेंः नीतीश कुमार पर तेजस्वी के अमर्यादित बयान पर भड़के उपेंद्र कुशवाहा! कहा-सुन लो तेजस्वी जबान पर लगाम रखो, वरना…

कुशवाहा ने आगे कहा कि लालू के बेटे आरजेडी में बड़े नेताओं का भी लगातार अपमान करते रहे हैं. रघुवंश प्रसाद सिंह व जगदानंद सिंह का उदाहरण सबके समाने ही हैं. हालांकि, उन्होंने कहा कि महागठबधन में रहते मेरा अपमान करने की हिम्‍मत तेजस्वी नहीं कर सके लेकिन आदत तो यही है. मुख्‍यमंत्री का अपमान बिहार की जनता का अपमान है.  इस लिहाज से तो वे अब जनता का भी अपमान करने लगे हैं.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here